प्रौद्योगिकी व्यावसायीकरण

बौद्धिक संपदा और प्रौद्योगिकी प्रबंधन (आईपी एंड टीएम) इकाई

भारतीय कृषि के प्रौद्योगिकी आधारित विकास में अंशधारकों के जरिये भा.कृ.अनु.प. का योगदान

संरचना

बौद्धिक संपदा और प्रौद्योगिकी प्रबंधन इकाई के प्रमुख सहायक महानिदेशक हैं। बौद्धिक संपदा और प्रौद्योगिकी हस्तांतरण/व्यावसायीकरण के सभी मामले इन्हीं की देखरेख में हैं।
भा.कृ.अनु.प. के अनुसार प्रौद्योगिकी उत्पादों और सेवाओं का सही ढंग से प्रबंधन और इन्हें व्यावसायिक रूप देते हुए इसका हस्तांतरण और उपयोगकर्ता तक पहुंचाना देश के लिए फायदेमंद है। इसलिए परिषद धीरे-धीरे किन्तु मजबूती से बौद्धिक संपदा प्रबंधन और प्रौद्योगिकी हस्तांतरण की ओर संगठित रूप से कदम बढ़ा रही है।
भा.कृ.अनु.प. ने 2 अक्टूबर 2006 से विकेन्द्रीकृत त्रिस्तरीय बौद्धिक संपदा प्रबंधन प्रणाली की शुरूआत की है।

  • भा.कृ.अनु.प. प्रौद्योगिकियों के व्यावसायिक हस्तांतरण हेतु लाइसेंस अनुबंध या व्यावसायिक समझौतों के लिए भा.कृ.अनु.प. संस्थानों को शक्ति प्रदान की गयी है।
  • भा.कृ.अनु.प., नई दिल्ली; आईवीआरआई, इज्जतनगर; सिरकोट, मुम्बई; एनआईआरजेएएफटी, कोलकाता और सीआईएफटी, कोच्चि में 5 क्षेत्रीय प्रौद्योगिकी प्रबंधन और व्यवसाय नियोजन और विकास (ZTM&BPD) इकाईयों वाले मध्य स्तर का विकास किया गया है ताकि व्यवसाय गंभीरता से किया जा सके और सार्वजनिक-निजी भागीदारी मजबूत हो सके। संबंधित क्षेत्र में स्थित विभिन्न भा.कृ.अनु.प. संस्थानों में उपलब्ध भा.कृ.अनु.प. प्रौद्योगिकी प्रोफाइल को ये क्षेत्रीय इकाइयां दर्शाती हैं।
  • भा.कृ.अनु.प. मुख्यालय स्थित केन्द्रीय बौद्धिक संपदा और प्रौद्योगिकी प्रबंधन पद्धति तकनीकी-कानूनी और नीतिगत मुद्दों/पहलुओं को देखती है और केन्द्रीय स्तर पर सार्वजनिक-निजी संबंधों का अध्ययन करती है।

महत्वपूर्ण क्षेत्र

  • व्यावसायिक, सहकारी या ओपन पब्लिक माध्यम से भा.कृ.अनु.प. ज्ञान और प्रौद्योगिकी उत्पादों के हस्तांतरण में मदद करना।
  • साझा प्रायोजनाओं में संयुक्त बौद्धिक संपदा प्रबंधन सहायता।
  • बौद्धिक संपदा और प्रौद्योगिकी प्रबंधन संबंधी मामलों में प्रौद्योगिकी नियामक और नीतिगत मुद्दों में मदद करना और परामर्श देना।
  • प्रौद्योगिकी/ज्ञान हस्तांतरण और अनुसंधान एवं विकास में सार्वजनिक निजी भागीदारी।

नीति और मार्गदर्शिका

बौद्धिक संपदा प्रबंधन और प्रौद्योगिकी हस्तांतरण/व्यावसायीकरण हेतु भा.कृ.अनु.प मार्गदर्शिका के अनुसार भा.कृ.अनु.प. प्रौद्योगिकी और ज्ञान उत्पादों तथा सेवाओं में व्यावसायिक साझेदारी के लिए इच्छुक पार्टियों को भा.कृ.अनु.प. प्रोत्साहन देती है। .

भागीदारी के लिए मिले

इच्छुक पार्टियां जो विशिष्ट क्षेत्रों में भा.कृ.अनु.प. प्रौद्योगिकियों और सेवाओं को पाना चाहती हैं, कृपया संबंधित भा.कृ.अनु.प. संस्थानों, जेडटीएम एंड बीपीडी इकाइयों (at भा.कृ.अनु.प/आईवीआरआई/सिरकोट/एनआईआरजेएएफटी/सीआईएफटी) smauria [dot] icaratnic [dot] in (और आईपी एंड टीएम इकाई, भा.कृ.अनु.प. मुख्यालय में संपर्क करें।).

संपर्क सूत्र

डा. संजीव सक्सेना,
सहायक महानिदेशक (बौद्ध‌िक संपदा एवं प्रौद्योगिकी प्रबन्‍धन)
कृषि अनुसंधान भवन, नई दिल्ली 110 012
फोन (कार्यालय) 91-11-25841281, 25842906 एक्स 325
ई-मेलः ssaxena [dot] icaratnic [dot] in