राष्ट्रीय आर्किड अनुसंधान केन्द्र का 18वां स्थापना दिवस मनाया गया

5 अक्टूबर 2013, पेकयांग

राष्ट्रीय ऑर्किड अनुसंधान केन्द्र (भा.कृ.अनु.प.), पेकयांग सिक्किम में 5 अक्टूबर 2013 को स्थापना दिवस समारोह मनाया गया। इसका विषय 'सिक्किम की ऑर्किड विविधता और संरक्षण' रखा गया था।

डॉ. पी.के. श्रीवास्तव, डीन, कृषि अभियांत्रिकी एवं कटाई उपरांत प्रौद्योगिकी, केन्द्रीय कृषि विश्वविद्यालय, सिक्किम ने मुख्य अतिथि के रूप में पुष्प संवर्द्धन व्यवसाय में जल संरक्षण के महत्व पर जोर दिया। हिन्दी सप्ताह में आयोजित कार्यक्रमों के विजेताओं को भी उन्होंने पुरस्कार प्रदान किए। इस अवसर पर विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया।

डॉ. डी. बर्मन, प्रमुख वैज्ञानिक (बागवानी) ने ऑर्किड संरक्षण के महत्व पर जोर देते हुए कहा कि ज्यादातर ऑर्किड प्रजातियों का अस्तित्व खतरे में है। इसलिए इनकी सही देखभाल होना आवश्यक है। आजीविका सुरक्षा के लिए ऑर्किड को व्यावसायिक फसल के रूप में उजागर करने के लिए उन्होंने वैज्ञानिकों के गंभीर प्रयासों की सराहना की।

डॉ.. एन. साइलो, प्रधान वैज्ञानिक ने धन्यवाद ज्ञापन प्रस्तुत किया।

(स्रोत: राष्ट्रीय ऑर्किड अनुसंधान केन्द्र, पेकयांग)