अंडमान के उपराज्यपाल द्वारा केंद्रीय कृषि अनुसंधान संस्थान की सराहना

21 सितंबर 2013, गाराचारमा

लेफ्टिनेंट जनरल (पूर्व) ए.के. सिंह, लेफ्टिनेंट गर्वनर, अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह ने केंद्रीय कृषि अनुसंधान संस्थान (CARI), गाराचारमा का 21 सितंबर, 2013 को दौरा किया। माननीय उपराज्यपाल ने विभिन्न अनुसंधान गतिविधियों की सराहना करते हुए कहा कि इस अनुसंधानों का लाभ कृषकों और मछुआरों तक पहुंचना चाहिए। उन्होंने इन कार्यकलापों में प्रसंस्करण और विपणन शामिल करने की सलाह दी। उन्होंने रासायनिक उर्वरकों, कीटनाशियों के स्थान पर जैविक खेती का सुझाव दिया और किसानों की आवश्यकतानुसार प्रदर्शन दौरों के आयोजन पर बल दिया। उन्होंने अण्डमान में समुद्री संसाधनों के मद्देनजर मात्स्यिकी विकास की अपार क्षमताओं के दोहन पर जोर दिया और डिब्बाबंदी तथा विपणन सुविधाओं के सृजन की संभावनाओं की तलाश पर कार्य करने की सलाह दी।

उपराज्यपाल महोदय ने पॉली हाउस समन्वित कृषि प्रणाली, गारचरमा और विश्व नारियल जर्मप्लाज्म एकत्रण फार्म, सिप्पीघाट फार्म का भी दौरा किया।

इससे पूर्व डॉ. एस. दाम रॉय, निदेशक ने केंद्रीय कृषि अनुसंधान संस्थान की 35 वर्षीय यात्रा, अनुसंधान, विकास और प्रसार गतिविधियों और उपलब्धियों पर संक्षिप्त प्रस्तुति दी। अण्डमान एवं निकोबार प्रशासन के विकास विभागों के साथ इस संस्थान के क्रियात्मक संपर्कों की भी सराहना की। श्री आनन्द प्रकाश, प्रमुख सचिव; सचिव (कृषि/मात्स्यिकी और पशुपालन) और कृषि, पशुपालन तथा मात्स्यिकी विभागों के निदेशक भी इस अवसर पर मौजूद थे।

(स्रोतः सीएआरआई, पोर्ट ब्लेयर)

(हिन्दी प्रस्तुतिः एनएआईपी मास मीडिया परियोजना, डीकेएमए)