कृषि विस्तार में अनुसंधान पर विचारोत्तेजक सत्र

26th April, 2013

Brain Storming Sessions Organized on Research in Agricultural Extension कृषि विस्तार में अनुसंधान सुधार के प्रयास हेतु 26 अप्रैल, 2013 को देश के 23 स्थानों पर विचारोत्तेजक सत्र (ब्रेन स्टोरमिंग सैशन) का आयोजन किया गया। इसमें कृषि विस्तार में अनुसंधान परिदृश्य के मद्देनजर अनुसंधान, शिक्षा और विस्तार गतिविधियों में संलग्न राष्ट्रीय कृषि अनुसंधान प्रणाली के प्रसार प्रोफेशनल शामिल थे। छः क्षेत्रीय प्रायोजना निदेशालयों सहित आठ भा.कृ.अनु.प. संस्थानों और 15 कृषि विश्वविद्यालयों में विभिन्न स्थानों पर ये सत्र आयोजित किये गये और इनमें 966 प्रसार प्रोफेशनल ने भाग लिया।

डा. के.डी. कोकाटे, उपमहानिदेशक (कृषि विस्तार) ने बताया कि ये सत्र कृषि वैज्ञानिकों की विस्तार शिक्षा में अनुसंधान से संबंधित ताजा मुद्दों पर विचार करने के लिए एक प्लेटफार्म प्रदान करते हैं और वे अनुसंधान योग्य प्रमुख मुद्दों और अनुसंधान क्षमता को बढ़ाने पर विचार कर सकते हैं।

Brain Storming Sessions Organized on Research in Agricultural Extension

इस सत्र में अनुसंधान प्रशिक्षण आवश्यकताओं और प्रमुख क्षेत्रों की प्राथमिकता आदि पर अनुसंधान क्षमता की पहचान करना आदि मुद्दों पर विचार-विमर्श किया गया। इन विचारोत्तेजक सत्रों की प्रमुख संस्तुतियां निम्न हैः-

कृषि में उत्पादन अन्तर का विश्लेषण और प्रथम पंक्ति विस्तार कार्यक्रमों के प्रभाव का मूल्यांकन तथा अन्य विकास योजनओं पर नेटवर्क अनुसंधान प्रायोजनाओं की आवश्यकता। इन सत्रों के विस्तृत परिणामों का दस्तावेज तैयार करके स्टेटस पेपर तैयार किया जायेगा और यह निकट भविष्य में होने वाली राष्ट्रीय कार्यक्रम एजेंडा और तकनीकी कार्यक्रम का आधार साबित होगा और इससे ‘‘कृषि विस्तार अनुसंधान में सुधार, संबंधित मुद्दे और भावी राह’’ विषय पर एक्शन योजना और फ्रेमवर्क विकसित किया जा सकेगा।

(स्रोतः कृषि विस्तार विभाग, भा.कृ.अनु.प.)
(हिन्दी प्रस्तुतिः एनएआईपी मास मीडिया परियोजना, कृषि ज्ञान प्रबंध निदेशालय)