उत्‍तर प्रदेश में मुजफ्फरनगर के गांव काकड़ा में ‘मेरा गांव – मेरा गौरव’ कार्यक्रम की शुरूआत

20 दिसम्‍बर, 2015, मुजफ्फरनगर, उत्‍तर प्रदेश

भाकृअनुप – भारतीय कृषि अनुसंधान संस्‍थान, पूसा, नई दिल्‍ली ने आज यहां गांव काकड़ा, जिला मुजफ्फरनगर, उत्‍तर प्रदेश में प्रक्षेत्र दिवस और गांव सेमिनार का आयोजन किया और ‘मेरा गांव – मेरा गौरव’ की शुरूआत की।

 'Mera Gaon Mera Gaurav' Launched at village-Kakda, Muzaffarnagar, Uttar Pradesh 'Mera Gaon Mera Gaurav' Launched at village-Kakda, Muzaffarnagar, Uttar Pradesh 'Mera Gaon Mera Gaurav' Launched at village-Kakda, Muzaffarnagar, Uttar Pradesh

समारोह के मुख्‍य अतिथि डॉ. संजीव कुमार बालियान, माननीय कृषि एवं किसान कल्‍याण राज्य मंत्री ने ‘मेरा गांव – मेरा गौरव’ कार्यक्रम को बढ़ावा देने में मंत्रालय द्वारा किए गए प्रयासों पर प्रकाश डाला। उन्‍होंने कृषि क्षेत्र में चुनौतियों और इनसे पार पाने में ‘मेरा गांव मेरा गौरव’ योजना की भूमिका  को विस्‍तार से  बताया। माननीय मंत्री महोदय ने गांव के प्रगतिशील किसानों को पूसा संस्‍थान के बीज और मृदा स्‍वास्‍थ कार्ड वितरित किए।

डॉ. जे.एस. संधू, उपमहानिदेशक (फसल विज्ञान), भाकृअनुप ने विशिष्‍ट अतिथि के रूप में बोलते हुए वैज्ञानिक-किसान इन्‍टरफेस बैठक के महत्‍व तथा ‘मेरा गांव मेरा गौरव’ योजना में भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद संस्‍थानों की भूमिका के बारे में विस्‍तार से बताया।

 'Mera Gaon Mera Gaurav' Launched at village-Kakda, Muzaffarnagar, Uttar Pradesh 'Mera Gaon Mera Gaurav' Launched at village-Kakda, Muzaffarnagar, Uttar Pradesh

डॉ. त्रिलोचन महापात्र, निदेशक, भाकृअनुप – भारतीय कृषि अनुसंधान संस्‍थान, पूसा, नई दिल्‍ली ने ‘मेरा गांव मेरा गौरव’ के महत्‍व पर प्रकाश डाला और जमीनी स्‍तर पर कृषि समस्‍याओं को सुलझाने में इसकी भूमिका के बारे में विस्‍तार से बताया।

डॉ. जे.पी. शर्मा, संयुक्‍त निदेशक (प्रसार), भाकृअनुप – भारतीय कृषि अनुसंधान संस्‍थान, पूसा, नई दिल्‍ली ने अपने स्‍वागत भाषण में संस्‍थान की ‘मेरा गांव मेरा गौरव’ योजना का विवरण प्रस्‍तुत किया। उन्‍होंने बताया कि संस्‍थान द्वारा इस कार्यक्रम को लागू करने के लिए गांवों के 119 क्‍लस्‍टरों को चुना गया है।

इस कार्यक्रम में भाकृअनुप संस्‍थानों तथा नाबार्ड के वैज्ञानिकों और अधिकारियों ने भाग लिया।

डॉ. इन्‍द्रमणि मिश्र, ‘मेरा गांव मेरा गौरव’ योजना के नोडल अधिकारी, भाकृअनुप – भारतीय कृषि अनुसंधान संस्‍थान, पूसा, नई दिल्‍ली ने धन्‍यवाद ज्ञापन प्रस्‍तुत किया।

(स्रोत : भाकृअनुप – भारतीय कृषि अनुसंधान संस्‍थान, पूसा, नई दिल्‍ली)