डॉ. पी.बी. सरकार स्‍मारक व्‍याख्‍यान

4 जनवरी, 2016, कोलकाता

 Dr. P. B. Sarkar Memorial Lecture deliveredभाकृअनुप – राष्‍ट्रीय पटसन एवं सम्‍बद्ध रेशा प्रौद्योगिकी अनुसंधान संस्‍थान (NIRJAFT), कोलकाता द्वारा आज यहां अपना 78वां स्‍थापना दिवस और 5वां  डॉ. पी.बी. सरकार स्‍मारक व्‍याख्‍यान आयोजित किया गया।

प्रोफेसर डी. चट्टोपाध्‍याय, कुलपति, एमिटी विश्‍वविद्यालय, कोलकाता एवं पूर्व प्रो-कुलपति (शैक्षणिक मामले), कलकत्‍ता विश्‍वविद्यालय ने ‘’स्‍मार्ट सामग्री और रासायनिक उद्योग’’ विषय पर 5वां डॉ. पी.बी. सरकार स्‍मारक व्‍याख्‍यान दिया। उन्‍होंने रेशा प्रौद्योगिकी के विशेष संदर्भ में विभिन्‍न उद्योगों में नैनो टैक्‍नोलॉजी के अनुप्रयोग पर चर्चा की। उन्‍होंने कहा कि नैनो टैक्‍नोलॉजी का इस्‍तेमाल स्‍मार्ट टैक्‍सटाइल्‍स, मिलिट्री परिधानों, टैक्‍सटाइल की कार्यशील फिनिशिंग तथा अनेक अन्‍य अनुप्रयोग क्षेत्रों में किया जा सकता है। उन्‍होंने इस बात पर बल दिया कि नैनो रसायनों के अनुप्रयोग के दौरान, नैनो विषाक्‍तता पर अध्‍ययन किया जाना चाहिए ताकि उत्‍पाद, उपयोग के लिए सुरक्षित रहे। साथ ही उन्‍होंने कहा कि नैनो विषाक्‍तता के मूल्‍यांकन के लिए नैनो कीटनाशक का आकार मुख्‍य कारक होता है।

डॉ. बी.एस. बिष्‍ट, पूर्व कुलपति, जी.बी.पंत कृषि व प्रौद्योगिकी विश्‍वविद्यालय, पंतनगर तथा निदेशक, बिरला इन्स्टिटयूट ऑफ एप्‍लॉयड साइन्सिज, भीमताल, उत्‍तराखण्‍ड ने स्‍थापना दिवस व्‍याख्‍यान दिया। डॉ. बिष्‍ट ने कपास, पटसन तथा अन्‍य लिग्‍नोसेलुलोजिक रेशा सहित विभिन्‍न प्राकृतिक रेशा के इतिहास और विकास पर चर्चा की। उन्‍होंने प्रगत अनुसंधान और विकास पर आधारित प्राकृतिक रेशा की क्षमता और उपयोगिता के अवसरों के बारे में बताया।

डॉ. बी.सी. मित्रा, पूर्व निदेशक, भाकृअनुप – राष्‍ट्रीय पटसन एवं सम्‍बद्ध रेशा प्रौद्योगिकी अनुसंधान संस्‍थान, कोलकाता ने अपने अध्‍यक्षीय भाषण में संस्‍थान के विभिन्‍न निदेशकों के नेतृत्‍व में भाकृअनुप – राष्‍ट्रीय पटसन एवं सम्‍बद्ध रेशा प्रौद्योगिकी अनुसंधान संस्‍थान की पिछले 78 वर्षों की प्रमुख उपलब्धियों का वर्णन किया। 

डॉ. डी. नाग, निदेशक, भाकृअनुप – राष्‍ट्रीय पटसन एवं सम्‍बद्ध रेशा प्रौद्योगिकी अनुसंधान संस्‍थान, कोलकाता ने अपने स्‍वागत भाषण में पिछले एक वर्ष के दौरान संस्‍थान की उपलब्धियों और आयोजनों के बारे में बताया।

(स्रोत : भाकृअनुप – राष्‍ट्रीय पटसन एवं सम्‍बद्ध रेशा प्रौद्योगिकी अनुसंधान संस्‍थान, कोलकाता)