भाकृअनुप – राष्‍ट्रीय चावल अनुसंधान संस्‍थान, कटक में कृषि शिक्षा दिवस समारोह

18 जनवरी, 2016, कटक

भाकृअनुप – राष्‍ट्रीय चावल अनुसंधान संस्‍थान, कटक ने दिनांक 18 जनवरी, 2016 को अपने परिसर में संस्‍थान का चतुर्थ ‘’ कृषि शिक्षा दिवस’’ मनाया जिसमें शहर के 18 स्‍कूलों और जूनियर कॉलेजों के कक्षा VIII से XII तक के लगभग 200 छात्र-छात्राओं और उनके शिक्षकों ने भाग लिया।

Agriculture Education Day Celebrated at ICAR-NRRI, CuttackAgriculture Education Day Celebrated at ICAR-NRRI, Cuttack

कार्यक्रम के मुख्‍य अतिथि डॉ. त्रिलोचन महापात्र, निदेशक, भाकृअनुप – भारतीय कृषि अनुसंधान संस्‍थान, नई दिल्‍ली ने अपने उद्घाटन सम्‍बोधन में शिक्षा, अनुसंधान और प्रसार को शामिल करके कृषि विज्ञान के विभिन्‍न आयामों की प्रासंगिकता पर बल दिया। कृषि विज्ञान में कैरियर भी अन्‍य विज्ञान विषयों की तरह ही  समान रूप से चुनौती भरा और बौद्धिक संतोष प्रदान करने वाला है। उन्‍होंने छात्र – छात्राओं को प्रोत्‍साहित करते हुए कहा कि उन्‍हें भविष्‍य में अपना कैरियर चुनते समय कृषि एवं सम्‍बद्ध विज्ञान को भी अपने दिमाग में रखना चाहिए। डॉ. महापात्र ने भाग लेने वाले स्‍कूलों और कॉलेजों के छात्रों द्वारा विकसित परियोजनाओं को दर्शाने के लिए कृषि विज्ञान प्रदर्शनी का भी उद्घाटन किया। प्रदर्शनी का विषय ‘ऊर्जा प्रभावी ग्रामीण कृषि उत्‍पादन प्रणालियां’ था। डॉ. महापात्र ने छात्रों के लिए एक शैक्षणिक बुलेटिन शीर्षक ‘ एग्रीकल्‍चर : दि कटिंग ऐज ऑफ इनोवेशन्‍स एंड डेवलेपमेन्‍ट्स’ को भी जारी किया।

श्री ए.के. पाणिग्रही, आईपीएस (इंस्‍पेक्‍टर जनरल ऑफ पुलिस, ओडि़शा) ने भी विशिष्‍ट अतिथि के रूप में कार्यक्रम की शोभा बढ़ाई। डॉ. ए.के. नायक, निदेशक, भाकृअनुप – राष्‍ट्रीय चावल अनुसंधान संस्‍थान, कटक ने कृषि शिक्षा के अवसरों और लाभों के बारे में छात्रों को जागरूक किया और कृषि विज्ञान में प्रगति एजेन्‍ट बनने के लिए उन्‍हें प्रेरित किया। पूरे दिन चलने वाला समारोह पारस्‍परिक और भागीदारी वाला था जिसमें भाग लेने वाले छात्रों पर विशेष फोकस किया गया, उनके लिए ‘ ट्रान्‍सफार्मिंग फार्मिंग इनटू कमर्शियल वेन्‍चर्स – पॉसीबिलीटीज एंड बैरियर्स ‘ तथा  सामान्‍य कृषि पर प्रश्‍नोत्‍तरी प्रतियोगिता; समूह गीत प्रतियोगिता आयोजित की गई। इसके साथ ही एक प्रदर्शनी भी लगाई गई जिसमें मॉडल, चार्ट, ग्राफ तथा सजीव सामग्री के रूप में छात्रों के नवोन्‍मेषी विचारों को प्रदर्शित किया गया। कृषि में कैरियर परामर्श पर एक आउटलेट के माध्‍यम से छात्रों को जागरूक किया गया और उन्‍हें कृषि विषय में संभावनाओं और अवसरों पर परामर्श प्रदान किया गया।

(स्रोत : भाकृअनुप – राष्‍ट्रीय चावल अनुसंधान संस्‍थान, कटक)