एनआईसीआरए, एनआईएफटीडी एवं खरीफ मौसम के लिए रणनीति पर कार्यशाला

18-19 अप्रैल, 2016, कानपुर

Workshop on NICRA, NIFTD & Strategy for Kharif Season भाकृअनुप – कृषि प्रौद्योगिकी अनुप्रयोग अनुसंधान संस्‍थान (अटारी), जोन-4 , कानपुर में जलवायु अनुकूल कृषि में राष्‍ट्रीय नवोन्‍मेष (NICRA)  तथा चारा प्रौद्योगिकी प्रदर्शन पर राष्‍ट्रीय पहल (NIFTD) पर तथा कृषि विज्ञान केन्‍द्रों के लिए खरीफ मौसम हेतु  रणनीति तैयार करने पर दो दिवसीय कार्यशाला का आयोजन दिनांक 18-19 अप्रैल, 2016 को किया गया।

डॉ. ए.के. सिंह, उपमहानिदेशक (कृषि विस्‍तार), भाकृअनुप ने बढ़ रही जलवायु विविधता को देखते हुए जलवायु अनुकूल कृषि में राष्‍ट्रीय नवोन्‍मेष परियोजना की जरूरत पर प्रकाश डाला। उन्‍होंने सूखा स्थिति का मुकाबला करने में विभिन्‍न प्रौद्योगिकियों के अवसर के साथ खरीफ मौसम के लिए रणनीति विकसित करने पर बल दिया।

डॉ. यू.एस. गौतम, निदेशक, भाकृअनुप – कृषि प्रौद्योगिकी अनुप्रयोग अनुसंधान संस्‍थान (अटारी), जोन-4 , कानपुर ने जलवायु अनुकूल कृषि में राष्‍ट्रीय नवोन्‍मेष के प्रदर्शन की रिपोर्ट प्रस्‍तुत की और जलवायु अनुकूल कृषि में राष्‍ट्रीय नवोन्‍मेष कृषि विज्ञान केन्‍द्रों से अपेक्षा तथा भावी दिशा के बारे में विस्‍तार से बताया।

डॉ. जे.वी.एन.एस. प्रसाद, जलवायु अनुकूल कृषि में राष्‍ट्रीय नवोन्‍मेष समन्‍वयक ने उत्‍तर प्रदेश तथा उत्‍तराखंड में संवेदनशीलता के बारे में बताया। उन्‍होंने बताया कि सूखा, बाढ़, भूजल के स्‍तर में कमी, शीत लहर, पाला तथा ओलावृष्टि जैसी विभिन्‍न जलवायु संवेदनशीलता पर किसानों की जरूरत के अनुसार कृषि विज्ञान केन्‍द्रों द्वारा कार्य जाता है।

डॉ. एस.एस. सिंह, अध्‍यक्ष, फसल विज्ञान, भाकृअनुप – भारतीय दलहन अनुसंधान संस्‍थान, कानपुर ने वर्ष 2016-17 के लिए कार्रवाई योजना की समीक्षा करते हुए अपने सुझाव दिए।

प्रधान वैज्ञा‍निक (सस्‍यविज्ञान) एवं जलवायु अनुकूल कृषि में राष्‍ट्रीय नवोन्‍मेष तथा चारा प्रौद्योगिकी प्रदर्शन पर राष्‍ट्रीय पहल के  नोडल अधिकारी, डॉ. अतर सिंह ने  जोन की जलवायु अनुकूल कृषि में राष्‍ट्रीय नवोन्‍मेष तथा चारा प्रौद्योगिकी प्रदर्शन पर राष्‍ट्रीय पहल  परियोजना के सम्‍यक प्रदर्शन की रिपोर्ट प्रस्‍तुत की। उनका सुझाव था कि जलवायु अनुकूल प्रौद्योगिकियों पर कहीं अधिक ध्‍यान दिया जाए।   

इस कार्यशाला में जलवायु अनुकूल कृषि में राष्‍ट्रीय नवोन्‍मेष के 15 तथा चारा प्रौद्योगिकी प्रदर्शन पर राष्‍ट्रीय पहल के 12 कृषि विज्ञान केन्‍द्रों ने भाग लिया।

(स्रोत : भाकृअनुप – कृषि प्रौद्योगिकी अनुप्रयोग अनुसंधान संस्‍थान (अटारी), कानपुर)