सिक्किम के राज्‍यपाल द्वारा आर्किड्स पर हितधारकों की बैठक का उद्घाटन

19 अप्रैल, 2016, पाक्‍योंग, सिक्किम

श्री श्रीनिवास पाटिल, माननीय राज्‍यपाल, सिक्किम ने आज यहां भाकृअनुप – राष्‍ट्रीय आर्किड्स अनुसंधान केन्‍द्र, पाक्‍योंग, सिक्किम में आर्किड्स पर चौथी हितधारक पारस्‍परिक बैठक का उद्घाटन किया।

Governor of Sikkim Inaugurates  Stakeholders Meet on Orchids Governor of Sikkim Inaugurates  Stakeholders Meet on Orchids Governor of Sikkim Inaugurates  Stakeholders Meet on Orchids

माननीय राज्‍यपाल ने टिकाउ आजीविका के लिए पुष्‍पविज्ञान और जैविक खेती की महत्‍ता पर प्रकाश डाला और इस बात पर बल दिया कि किसानों की लाभप्रदता और आय सृजन करने वाले कारकों पर ध्‍यान देते हुए अनुसंधान किया जाए। मुख्‍य अतिथि ने औपचारिक रूप से ‘हिमालयन अध्‍ययन पर राष्‍ट्रीय मिशन (NMHS)’  का शुभारंभ किया और संस्‍थान के तीन प्रकाशनों को जारी किया।

मुख्‍य अतिथि ने सिक्किम, दार्जिलिंग, मेघालय, असोम तथा अलीपुडुयार के 16 आर्किड्स किसानों को पुरस्‍कार प्रदान किए।

प्रो. के.वी. पीटर, पूर्व कुलपति, केरल कृषि विश्‍वविद्यालय तथा निदेशक, आईआईएसआर ने भारत में उपलब्‍ध आर्किड जैव विविधता के संरक्षण तथा टिकाउ उपयोगिता की दिशा में समर्पित प्रयास करने का आह्वान किया।

पदमश्री श्री ब्रहम सिंह, पूर्व निदेशक (डीआरडीओ – जीवन विज्ञान) ने आर्किड्स के मूल्‍य वर्धन पर सकेन्द्रित अनुसंधान करने और नवोन्‍मेषी युक्तियों के माध्‍यम से इसे प्रचलित करने पर बल दिया।

श्री पी.टी. भूटिया, निदेशक (बागवानी), एचसीसीडी विभाग ने सिक्किम में बागवानी को बढ़ावा देने में सिक्किम सरकार द्वारा की गईं पहल पर संक्षिप्‍त जानकारी दी।

डॉ. डी.आर. सिंह, निदेशक, भाकृअनुप – एनआरसीओ ने संस्‍थान द्वारा विकसित प्रौद्योगिकियों, किस्‍मों और उत्‍पादों पर प्रकाश डाला और आर्किड्स के व्‍यावसायीकरण के लिए अपना विजन रखा।

राज्‍य तथा केन्‍द्रीय संगठनों, सिक्किम, मेघालय, असोम, अरूणाचल प्रदेश व पश्चिम बंगाल के प्रगतिशील आर्किड उत्‍पादकों सहित लगभग 150 प्रतिनिधियों ने इस बैठक में भाग लिया।

(स्रोत : भाकृअनुप – राष्‍ट्रीय आर्किड्स अनुसंधान केन्‍द्र, पाक्‍योंग)