मोबाइल ऐप ‘राइस एक्‍स्‍पर्ट’ की शुरूआत

9 मई, 2016, कटक

Mobile App 'riceXpert' Launchedश्री राधा मोहन सिंह, माननीय केन्‍द्रीय कृषि एवं किसान कल्‍याण मंत्री ने भाकृअनुप – राष्‍ट्रीय चावल अनुसंधान संस्‍थान, कटक द्वारा विकसित किए गए मोबाइल ऐप ‘राइस एक्‍सपर्ट’ को जारी किया। इस अवसर पर श्री धर्मेन्‍द्र प्रधान, केन्‍द्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस राज्‍य मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) तथा श्री भतृहरि मेहताब, माननीय सांसद (लोक सभा), कटक भी उपस्थित थे। माननीय कृषि एवं किसान कल्‍याण मंत्री ने इस अनूठे आईटी-समर्थ हाथ में रख सकने वाले मोबाइल ऐप का विकास करने के लिए भाकृअनुप – राष्‍ट्रीय चावल अनुसंधान संस्‍थान, कटक के वैज्ञानिकों की टीम को बधाई दी। उन्होंने कहा कि इससे किसानों को वास्‍तविक लाभ मिलेगा।

डॉ. त्रिलोचन महापात्र, सचिव, डेयर एवं महानिदेशक, भाकृअनुप; श्री छबिलेन्‍द्र राउल, अपर सचिव, डेयर एवं सचिव, भाकृअनुप भी इस समारोह में उपस्थित थे।

Mobile App 'riceXpert' LaunchedMobile App 'riceXpert' Launched
इस ऐप की मदद से किसानों को वास्‍तविक समय में कीटों व नाशीजीवों, पोषक तत्‍वों, खरपतवारों, सूत्रकृमियों और रोग संबंधी समस्‍याओं की जानकारी प्रदान की जाएगी। इसके अलावा इस ऐप की मदद से किसान भाई विभिन्‍न इकोलॉजी के लिए चावल की किस्‍मों, विभिन्‍न खेत तथा कटाई उपरांत परिचालनों के लिए कृषि उपकरणों की जानकारी भी हासिल कर सकेंगे। यह एक वेब आधारित एप्‍लीकेशन है जिसमें जानकारी की सुविधाओं का प्रवाह किसान से फार्म वैज्ञानिक की ओर आता है और किसान भाई तुरंत अपनी जिज्ञासा का समाधान हासिल कर लेते हैं। किसान भाई अपने चावल के खेतों में इस ऐप का इस्‍तेमाल एक नैदानिकी टूल के तौर पर कर सकते हैं और टेक्‍स्‍ट, फोटो तथा आवाज को रिकॉर्ड कर उसे भेजकर अपनी समस्‍याओं के तुरंत समाधान के लिए कस्‍टमाइज्‍ड प्रश्‍न कर सकते हैं। मोबाइल ऐप की मदद से चावल की खेती पर जानकारी प्रदान की जाती है और किसान विशेषज्ञों के पैनल से सलाह ले सकते हैं।

इस ऐप का विकास एंड्रायड प्‍लेटफार्म के लिए किया गया है और इसे गूगल प्‍लेस्‍टोर अथवा www.nrri.in से डाउनलोड किया जा सकता है। यह ऐप चावल फसल पर कार्य कर रहे अनुसंधानकर्मियों, छात्रों और गांव के स्‍तर पर कार्य करने वाले कार्यकर्ताओं के लिए बहुत उपयोगी है।

(स्रोत : भाकृअनुप – राष्‍ट्रीय चावल अनुसंधान संस्‍थान, कटक)