मुजफ्फरनगर, उत्‍तर प्रदेश में किसान मेला एवं फार्म-फील्‍ड स्‍कूल का आयोजन

7 मई, 2016, नवाला गांव, मुजफ्फरनगर, उत्‍तर प्रदेश

भाकृअनुप – भारतीय कृषि प्रणाली अनुसंधान संस्‍थान (IIFSR), मोदीपुरम द्वारा आज यहां ‘किसान मेला एवं फार्म-फील्‍ड स्‍कूल’ कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

Farmer's Fair and Farm Field School at MuzaffarnagarFarmer's Fair and Farm Field School at Muzaffarnagar

डॉ. संजीव कुमार बालियान, माननीय कृषि एवं किसान कल्‍याण राज्‍य मंत्री ने कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए किसानों से गन्‍ने की खेती में उन्‍नत तकनीकों को अपनाने का अनुरोध किया। माननीय मंत्री महोदय ने कृषि में  पानी की बचत करने और पेयजल प्रयोजन के लिए इसकी शुद्धता को बनाये रखने पर जोर दिया। डॉ. बालियान ने गांवों में कॉपरेटिव सोसायटी के माध्‍यम से गन्‍ने की खेती में उन्‍नत उपकरणों की कस्‍टम हायरिंग की वकालत की।

डॉ. ए.के. सिंह, उपमहानिदेशक (कृषि विस्‍तार), भाकृअनुप तथा कार्यक्रम के विशिष्‍ट अतिथि ने कृषि विस्‍तार कार्यक्रम के तहत चलाईं जा रहीं विभिन्‍न योजनाओं के बारे में संक्षिप्‍त जानकारी दी। उन्होंने इस बात पर बल दिया कि मृदा की उत्‍पादकता को सुधारने, गन्‍ना आधारित कृषि प्रणाली में लाभप्रदता बढ़ाने और क्षेत्र में पशुधन उत्‍पादन में सुधार लाने की जरूरत है।

डॉ. रविन्‍द्र कौर, निदेशक, भाकृअनुप – भारतीय कृषि अनुसंधान संस्‍थान, नई दिल्‍ली ने किसानों से  वैज्ञानिक – किसान पारस्‍परिक बैठक का अधिकतम लाभ उठाने का अनुरोध किया।

डॉ. आजाद सिंह पंवार, निदेशक, भाकृअनुप – भारतीय कृषि प्रणाली अनुसंधान संस्‍थान (IIFSR),  मोदीपुरम  ने क्षेत्र में किसानों की आर्थिक और आजीविका सुरक्षा के लिए संस्‍थान द्वारा चलाये जा रहे प्रमुख कार्यक्रमों पर प्रकाश डाला।

इस अवसर पर गणमान्‍य अतिथियों द्वारा भारत सरकार की विभिन्‍न योजनाओं और उन्‍नत कृषि प्रौद्योगिकियों पर किसान मित्रवत साहित्‍य भी जारी किया गया।

इस कार्यक्रम में पश्चिम उत्‍तर प्रदेश के 85 गांवों के लगभग 5000 किसानों ने भाग लिया।

श्री देवराज त्‍यागी, ग्राम प्रधान ने धन्‍यवाद ज्ञापन प्रस्‍तुत किया।

(स्रोत : भाकृअनुप – भारतीय कृषि प्रणाली अनुसंधान संस्‍थान (IIFSR),  मोदीपुरम )