बारामूला में किसान सम्‍मेलन एवं प्रदर्शनी का आयोजन

2 दिसम्‍बर, 2015, बारामूला

कृषि विज्ञान केन्‍द्र, बारामूला द्वारा आज यहां किसान सम्‍मेलन व प्रदर्शनी का आयोजन टाउन हॉल कुंजर में किया गया।

Awareness Programme on PPV&FRA organized by KVK, Baramulla

समारोह के मुख्‍य अतिथि श्री अब्‍दुल कय्यूम शेख, एसडीएम, तंगमार्ग ने सुझाव दिया कि कृषि विज्ञान केन्‍द्र द्वारा विकास कार्यक्रमों के प्रभावों को बढ़ाने तथा ग्रामीण गरीबों की आजीविका सुरक्षा में सुधार लाने के लिए मनरेगा, वर्मी कम्‍पोस्‍ट उत्‍पादन इकाई जैसी अन्‍य योजनाओं के साथ कार्यक्रमों का सामंजस्‍य स्‍थापित किया जाना चाहिए।

सम्‍माननीय अतिथि, डॉ. ए.ए. सोफी, पूर्व निदेशक, भाकृअनुप – केन्‍द्रीय शीतोष्‍ण बागवानी संस्‍थान, श्रीनगर ने बारामूला जिले में शीतोष्‍ण बागवानी फसलों की संभावनाओं के बारे में संक्षेप में बताया और देश के विभिन्‍न भागों में तथा साथ ही अन्‍य देशों में उपलब्‍ध प्रौद्योगिकियों पर प्रकाश डाला। उन्‍होंने सेब, अखरोट, खुबानी तथा चेरी की खेती के लिए विकसित नई किस्‍मों और प्रौद्योगिकियों के बारे में बताया।

डॉ. डी.बी. सिंह, निदेशक, भाकृअनुप – केन्‍द्रीय शीतोष्‍ण बागवानी संस्‍थान, श्रीनगर ने कार्यक्रम की अध्‍यक्षता की। उन्‍होंने कृषि, बागवानी, पशुपालन तथा सम्‍बद्ध क्षेत्रों में उपलब्‍ध नई प्रौद्योगिकियों के बारे में प्रकाश डाला। डॉ. सिंह ने उच्‍च सघनता रोपण, अनाज, फल, सब्‍जी तथा चारा फसलों की नई किस्‍मों के बारे में भी बताया।

डॉ. जे.आई. मीर, वैज्ञानिक, भाकृअनुप – केन्‍द्रीय शीतोष्‍ण बागवानी संस्‍थान, श्रीनगर ने धन्‍यवाद ज्ञापन प्रस्‍तुत किया।

इस कार्यक्रम में बारामूला जिले के 30 विभिन्‍न गांवों के लगभग 250 किसानों, कृषिरत महिलाओं और ग्रामीण युवाओं, राज्‍य के कृषि, बागवानी तथा पशु पालन विभाग के 30 अधिकारियों और जिला सूचना कार्यालय, शिक्षा विभाग और राज्‍य व केन्‍द्र सरकार के अन्‍य विकास विभागों तथा गैरसरकारी संगठनों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया।

(स्रोत : कृषि विज्ञान केन्‍द्र (भाकृअनुप – केन्‍द्रीय शीतोष्‍ण बागवानी संस्‍थान), बारामूला)