किसान सशक्तिकरण एवं कल्‍याण के लिए नवोन्‍मेषी प्रसार प्रणाली’ पर राष्‍ट्रीय संवाद

17 दिसम्‍बर, 2015, नई दिल्‍ली

श्री राधा मोहन सिंह, माननीय कृषि एवं किसान कल्‍याण मंत्री ने आज यहां ‘किसानों के सशक्तिकरण और कल्‍याण के लिए नवोन्‍मेषी प्रसार प्रणाली ’ पर आयोजित राष्‍ट्रीय संवाद का उद्घाटन किया।

National Dialogue on Innovative Extension System for Farmers Empowerment and WelfareNational Dialogue on Innovative Extension System for Farmers Empowerment and Welfare

अपने उद्घाटन सम्‍बोधन में माननीय मंत्री महोदय ने कृषि प्रसार प्रणाली को मजबूत बनाने पर जोर दिया ताकि किसान मूल्‍यवान समय को गंवाए बिना प्रौद्योगिकियों का लाभ उठा सकें। उन्‍होंने भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद तथा इसके अंतर्गत कृषि विज्ञान केन्‍द्रों की सराहना की जिन्‍होंने प्रयोगशाला से खेत तक की प्रक्रिया को तेजी लाने में अपनी क्षमता और दृष्टिकोण को प्रदर्शित किया है। माननीय मंत्री महोदय ने उन्‍नत संसाधन प्रबंधन और मार्केटिंग के माध्‍यम से किसानों के कल्‍याण के लिए हाल ही में प्रारंभ की गईं विभिन्‍न नई योजनाओं के बारे में विस्‍तार से बताया। उन्‍होंने अनेक नई चुनौतियों विशेषकर पोषणिक सुरक्षा और ग्‍लोबल जलवायु परिवर्तन पर अपनी चिन्‍ता प्रकट की। उन्‍होंने आशा जताई कि इस राष्‍ट्रीय संवाद में किया जाने वाला आपसी विचार-विमर्श भावी रणनीतियों को विकसित करने में उपयोगी होगा।

National Dialogue on Innovative Extension System for Farmers Empowerment and Welfareडॉ. एस. अय्यप्‍पन, सचिव, डेयर एवं महानिदेशक, भाकृअनुप ने अपने संबोधन में विज्ञान और प्रौद्योगिकी का अनुप्रयोग करते हुए किसानों की आमदनी को बढ़ाने में कृषि प्रसार की महत्‍वपूर्ण भूमिका पर प्रकाश डाला। उन्‍होंने कृषि वैज्ञानिकों से समुचित एवं लागत प्रभावी फार्म प्रौद्योगिकियां विकसित करने के लिए किसानों के साथ गहन समन्‍वय बनाकर कार्य करने का अनुरोध किया।

डॉ. आर.एस. परोदा, अध्‍यक्ष, ट्रस्ट फॉर एडवांसमेंट ऑफ एग्रीकल्चरल सांइसेज (TAAS) एवं पूर्व सचिव, डेयर व महानिदेशक, भाकृअनुप ने कृषि की उत्‍पादकता और लाभप्रदता को बढ़ाने के लिए किसानों तक प्रौद्योगिकियों का प्रभावी हस्‍तांतरण करने की  जरूरत पर बल दिया। उन्‍होंने किसानों के सशक्तिकरण और कल्‍याण के लिए नवोन्‍मेषी प्रसार प्रणालियां विकसित करने में ट्रस्ट द्वारा की जा रहीं विभिन्‍न पहलों के बारे में विस्‍तार से बताया।   

इससे पहले, डॉ. ए.के. सिंह, उपमहानिदेशक ( कृषि प्रसार), भाकृअनुप ने अपने प्रारंभिक भाषण में राष्‍ट्रीय संवाद के उद्देश्‍यों की रूपरेखा के बारे में बताया और भाकृअनुप कृषि प्रसार प्रणाली की ताजा उपलब्धियों की संक्षिप्‍त जानकारी दी।

इस कार्यक्रम में भाकृअनुप, ट्रस्ट फॉर एडवांसमेंट ऑफ एग्रीकल्चरल सांइसेज (TAAS), गैर सरकारी संगठनों और संबंधित सार्वजनिक तथा निजी संगठनों के वरिष्‍ठ अधिकारियों ने भाग लिया।

National Dialogue on Innovative Extension System for Farmers Empowerment and WelfareNational Dialogue on Innovative Extension System for Farmers Empowerment and Welfare

डॉ. एन.एन. सिंह, सचिव ने धन्‍यवाद ज्ञापन प्रस्‍तुत किया।