किसानों के खेतों तक प्रौद्योगिकी प्रसार पर जोर

14 जून, 2016, पटना

श्री गिरिराज सिंह, केन्द्रीय सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम राज्य मंत्री ने पूर्वी क्षेत्र के लिए भाकृअनुप - अनुसंधान परिसर, पटना का दौरा किया।

Dissemination of Technologies to Farmers Field Emphasised Dissemination of Technologies to Farmers Field Emphasised Dissemination of Technologies to Farmers Field Emphasised

इस दौरान श्री सिंह ने क्षेत्र विशिष्ट खनिज मिश्रण 'स्वर्ण' के विशेष उल्लेख के साथ संस्थान द्वारा किए जा रहे प्रयोगों की प्रशंसा की। इसके साथ ही उन्होंने वैज्ञानिकों से यह आग्रह किया कि वे किसानों को सहयोग करें और खेतों तक विकसित प्रौद्योगिकियों का प्रसार किया जाय। उन्होंने वैज्ञानिकों और किसानों को सुझाव दिया कि पशुधन, बकरी और मुर्गी पालन के लिए चारे के रूप में सहजन की खेती द्वारा चारे की लागत को कम किये जाय।

श्री सिंह ने संस्थान के प्रायोगिक खेतों, पशुधन, बकरी, भैंस व मुर्गी, बत्तख और बकरी फार्म का दौरा किया और वैज्ञानिकों के साथ बातचीत की।

डॉ. बी.पी. भट्ट, निदेशक, भाकृअनुप - आरसीईआर, पटना ने संस्थान द्वारा जारी गतिविधियों, विशेष रूप से संस्थान द्वारा विकसित एकीकृत मछली पालन तथा अनाज, दाल और सब्जी की किस्मों के बारे में जानकारी दी। इसके साथ ही उन्होंने संस्थान द्वारा विकसित कृषि के क्षेत्र में सौर ऊर्जा प्रयोग, आंगन में मुर्गी व बत्तख पालन और पूर्वी क्षेत्र में पशुओं की साहीवाल और मुर्रा नस्ल के बारे में जानकारी दी।

संस्थान के वैज्ञानिकों, उद्यमियों और नाबार्ड, नारियल विकास बोर्ड, पंजाब नेशनल बैंक, राज्य मत्स्य विभाग के प्रतिनिधियों और बिहार के 50 प्रगतिशील किसानों ने संवाद सत्र में भाग लिया।

(स्रोत: पूर्वी क्षेत्र के लिए भाकृनुप अनुसंधान परिसर, पटना)