गन्ना अनुसंधान के मापदंड में बदलाव पर जोर

8 जून, 2016, लखनऊ

डॉ. त्रिलोचन महापात्र, सचिव, डेयर एवं महानिदेशक, भाकृअनुप ने 8 जून, 2016 को भाकृअनुप – भारतीय गन्ना अनुसंधान संस्थान, लखनऊ का दौरा किया।

Paradigm Shift in Sugarcane Research StressedParadigm Shift in Sugarcane Research StressedParadigm Shift in Sugarcane Research Stressed

संस्थान के वैज्ञानिकों व स्टॉफ के साथ संवाद के दौरान डॉ. महापात्र ने गन्ना अनुसंधान के मापदंडों में बदलाव पर जोर दिया। इसके साथ ही उन्होंने वैज्ञानिकों से रचनात्मक ढंग से सोचने का आग्रह किया, जिससे गन्ने की उत्पादकता को बढ़ाया जा सके। इसमें कम लागत में उत्पादन बढ़ाने के साथ ही शर्करा की उत्पादकता में लगभग डेढ़ गुना की वृद्धि लाने वाली तकनीकों का विकास भी हो सके। उन्होंने ग्रामीण युवाओं को कृषि में आकर्षित करने के लिए संस्थान को उद्यमिता क्षमता विकसित करने वाले प्रशिक्षण कार्यक्रमों की शुरुआत करने का सुझाव दिया। इसके अलावा उन्होंने गन्ने की दबाव सहिष्णु किस्में विकसित करने, मूल्य संवर्धन एवं प्रसंस्करण और प्रसंस्करणकर्ताओं के बाजार के साथ संपर्क विकास की बात कही।

डॉ. ए.डी पाठक, निदेशक, भाकृअनुप-आईआईएसआर ने संस्थान की प्रमुख उपलब्धियों की जानकारी दी।

(स्रोतः भाकृअनुप – भारतीय गन्ना अनुसंधान संस्थान, लखनऊ)