आईजीएफआरआई में लाभार्थी किसान सम्मेलन

2 जून 2016, झांसी

भाकृअनुप - भारतीय चरागाह एवं चारा अनुसंधान संस्थान (आईजीएफआरआई), झांसी द्वारा 2 जून, 2016 को लाभार्थी किसान सम्मेलन आयोजित किया गया।

श्री राधा मोहन सिंह, केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ने अपने उद्घाटन संबोधन में इस बात पर जोर दिया कि प्रत्येक खेत में सिंचाई सुविधा उपलब्ध होनी चाहिए। उन्होंने किसानों से आग्रह किया कि वे मृदा और जल संरक्षण से संबंधित तकनीकों को अपनाएं। मंत्री महोदय ने मृदा स्वास्थ्य कार्ड, फसल बीमा तथा बढ़े हुए न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) व अन्य किसान उन्मुख योजनाओं पर सविस्तार चर्चा की। इसके साथ ही उन्होंने आग्रह किया कि किसानों को इन योजनाओं का लाभ उठाना चाहिए।

Labharthi Kisan Sammelan 2016Labharthi Kisan Sammelan 2016

कृषि मंत्री ने बुंदेलखंड क्षेत्र और विशिष्ट योजनाओं के विशेष संदर्भ में संबंधित भाकृअनुप के संबंधित विभागों व केवीके से एवं बातचीत की।

मंत्री महोदय ने प्रिंट एवं इलेक्टॉनिक मीडिया के साथ विशेष सत्र में भाग लिया।

श्री बाबुल सुप्रियो, शहरी विकास, आवास और शहरी गरीबी उपशमन राज्य मंत्री ने विशेष अतिथि के रूप में अपने संबोधन में कहा कि सरकार किसानों के कल्याण के लिए भरपूर प्रयास करेगी।

श्री महेश गिरि, संसद सदस्य और श्री रवि शर्मा, विधानसभा सदस्य ने भी इस कार्यक्रम में भाग लिया।

मेरा गांव मेरा गौरव, आदर्श चारा ग्राम, निक्रा, आईजीएफआरआई-सीआईडब्ल्यू सहयोगी परियोजना, आईसीएआरडीए-Grasspea, डीएसटी प्रायोजित परियोजना, उन्नत भारत अभियान व अन्य संस्थाओं की किसान उन्मुख योजनाओं और सीएएफआरआई के लाभार्थी झांसी और आसपास के जिलों के 450 किसानों ने इस कार्यक्रम में भाग लिया। डॉ. पी. के. घोष, निदेशक, आईजीएफआरआई, झांसी ने सभी अतिथियों और किसानों का स्वागत किया और संस्थान की उपलब्धियों व गतिविधियों के बारे में बताया।

(स्रोत: भाकृअनुप - भारतीय चरागाह एवं चारा अनुसंधान संस्थान, झांसी)