भाकृअनुप-भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान, वाराणसी में प्रौद्योगिकी पार्क का उद्घाटन

8-9 अक्तूबर, 2016, वाराणसी

डॉ. त्रिलोचन महापात्र, सचिव, डेयर एवं महानिदेशक (भाकृअनुप) ने 8-9 अक्तूबर, 2016 को भाकृअनुप-भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान, वाराणसी का दौरा किया।

DG, ICAR at ICAR-IIVR, Varanasi08-09th October 2016, VaranasiDG, ICAR at ICAR-IIVR, VaranasiDG, ICAR at ICAR-IIVR, VaranasiDG, ICAR at ICAR-IIVR, Varanasi

डॉ. महापात्र ने स्टॉफ से चर्चा करते हुए कहा कि सब्जियों द्वारा पोशण सुरक्षा प्रदान करने के लिए प्रौद्योगिकियों का विकास होना चाहिए। हमें बालकनी में सब्जियां उगाना और विदेशी सब्जी उत्पादन की संभावना तलाशनी होगी।

उन्होंने कलम द्वारा लगाने वाली सब्जियों हेतु बहु दबाव सहिष्णु रोपण सामग्री तैयार करने का सुझाव दिया और सब्जियों के पूर्व-उत्पादन कार्यक्रम में वन्य प्रजातियों के सघन उपयोग पर जोर दिया।

डॉ. महापात्र ने आईसीएआर-आईआईवीआर प्रौद्योगिकी पार्क का उद्घाटन किया। किसानों एवं अन्य हितधारकों के लाभ हेतु अद्यतन सब्जी प्रौद्योगिकियों के प्रदर्शन के लिए विकसित इस पार्क के लिए उन्होंने संस्थान के निदेशक एवं उनकी टीम को बधाई दी।

‘सब्जियों में संकर बीजों का सिद्धांत एवं उत्पादन तकनीकें’ नामक प्रशिक्षण कार्यक्रम के समापन समारोह में भी महानिदेशक महोदय शामिल हुए और उन्होंने बेरोजगार युवाओं के लिए कौशल विकास कार्यक्रमों के आयोजन का आग्रह किया। उन्होंने परीक्षण फार्म और प्रयोगशालाओं का दौरा किया और तीन प्रकाशन जारी किये।

डॉ. बिजेन्द्र, निदेशक, आईसीएआर-आईआईवीआर, वाराणसी ने संस्थान की गतिविधियों के विषय में बताया।

(स्रोत : भाकृअनुप-भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान, वाराणसी)