भाककृअनुप महानिदेशक द्वारा मऊ में बीज परीक्षण प्रयोगशाला एवं बीज प्रसंस्करण संयंत्र का उद्घाटन

13 अगस्त 2016, मऊ

डॉ. त्रिलोचन महापात्र, सचिव, डेयर एवं महानिदेशक, भाकृअनुप ने 13 अगस्त, 2016 को भाकृअनुप- भारतीय बीज विज्ञान संस्थान (आईआईएसएस), मऊ में बीज प्रसंस्करण संयंत्र एवं आईएसटीए सदस्य बीज परीक्षण प्रयोगशाला का उद्घाटन किया एवं इसे क्षेत्र के कृषक समुदाय के लिए समर्पित किया। अपने संबोधन में उन्होंने किसानों के लिए बीज प्रसंस्करण सुविधा के महत्व पर विस्तार से चर्चा की एवं आशा व्यक्त की कि यह आगे चलकर क्षेत्र में गुणवत्तायुक्त बीज उत्पादन का आधार बनेगा। उन्होंने केन्द्र सरकार एवं भाकृअनुप द्वारा किसानों के कल्याण के लिए जारी विभिन्न योजनाओं और कार्यक्रमों के बारे में जानकारी दी।

DG, ICAR inaugurated Seed Testing Laboratory and Seed Processing Plant at MauDG, ICAR inaugurated Seed Testing Laboratory and Seed Processing Plant at MauDG, ICAR inaugurated Seed Testing Laboratory and Seed Processing Plant at Mau

डॉ महापात्र ने किसानों से आग्रह किया कि वे साथी किसानों के बीच गुणवत्तायुक्त बीज के बारे में जागरूकता फैलाने का कार्य करें। इसके साथ ही उन्होंने परिषद द्वारा की जा रही नई पहल के बारे में बताया जिसके तहत उन्नत बीजों की आपूर्ति हेतु गांवों व ग्रामीण समुदायों को सक्षम बनाया जाएगा।

डॉ. एस. राजेन्द्र प्रसाद, निदेशक, भाकृअनुप- आईआईएसएस ने बीज प्रसंस्करण इकाई की कार्यप्रणाली के बारे में जानकारी दी।

इस कार्यक्रम में महानिदेशक महोदय के साथ ही डॉ. जे.एस. चौहान, सहायक महानिदेशक (बीज), भाकृअनुप, नई दिल्ली और परिषद के अन्य अधिकारी गणों ने भाग लिया।

इस कार्यक्रम से पहले 12 अगस्त, 2016 को डॉ. महापात्र ने आईसीएआर-आईआईएसएस गुणवत्ता बीज उत्पादन प्रयोगात्मक स्थलों का दौरा किया। अपने संबोधन में उन्होंने कृषकों पर उच्च सकारात्मक प्रभाव वाले समग्र अनुसंधान कार्यक्रमों के लिए वैज्ञानिकों का आह्वान किया। देश की खाद्य एवं पोषण सुरक्षा को गुणवत्तापूर्ण बीजों के महत्व से जोड़ते हुए उन्होंने कार्यक्रमों को इस प्रकार बनाने पर जोर दिया कि भविष्य में देश में गुणवत्तापूर्ण बीजों की उपलब्धता सुनिश्चित करने में सार्वजनिक क्षेत्र की भूमिका को बढ़ावा मिल सके।

डॉ. जे.एस. चौहान, सहायक उपमहानिदेशक (बीज), भाकृअनुप ने अपने संबोधन में वैज्ञानिकों से आग्रह किया कि वे किसानों की समस्याओं को सुलझाने में अपने अनुसंधान प्रयासों में गंभीरता लाएं।

डॉ. एस. राजेन्द्र प्रसाद, निदेशक, भाकृअनुप – आईआईएसएस, मऊ ने संस्थान की विभिन्न अनुसंधान उपलब्धियों और क्षेत्र में प्रसार गतिविधियों के बारे में जानकारी दी।

डॉ. ए.के. सक्सेना, निदेशक, एनबीएआईएम, मऊ ने संस्थान की हालिया गतिविधियों के बारे में जानकारी प्रदान की।

महानिदेशक, आईसीएआर द्वारा ‘दलहन अंतरराष्ट्रीय वर्ष 2016’ मनाने के हेतु ‘दलहन: गुणवत्तायुक्त बीज उत्पादन एवं प्रौद्योगिकियों के विकास’ नामक तकनीकी बुलेटिन जारी किया गया।

(स्रोत: भाकृअनुप – भारतीय बीज विज्ञान संस्थान, मऊ)