भाकृअनुप पुरस्काअर 2016

भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद, नई दिल्लीतद्वारा निम्नुलिखित भाकृअनुप पुरस्कामरों की घोषणा की जाती है :

  1. भाकृअनुप चैलेंज अवार्ड 2016

    कृषि में किसी भी प्रकार की वर्तमान या दीर्घकालिक समस्याह या परिसीमन, जो कि कृषि विकास और/या किसी भी मुख्यर कृषि/बागवानी या पशु/मछली उत्पाद में उत्पाकदकता बढ़ाने के मार्ग में एक बाधा है, का समाधान खोजने के लिए एक चैलेंज अवार्ड का अधिष्ठा पन किया है। पुरस्कार में रू. 10.00 लाख की नकद राशि, एक प्रशस्ति-पत्र और इसके अलावा, भाकृअनुप नियमों और मानदंडों के अनुसार दी गई चुनौतियों का समाधान करते हुए वैज्ञानिक द्वारा विकसित प्रौद्योगिकी/उत्पाचद/विधि के वाणिज्यीरकरण से भाकृअनुप द्वारा प्राप्त आय का एक अंश शामिल है। ‘’चुनौतियों’’ की सूची को भाकृअनुप के पुरस्का र प्रकोष्ठस से प्राप्त् किया जा सकता है, या भाकृअनुप वेबसाइट से डाउनलोड किया जा सकता है। कोई भी वैज्ञानिक या वैज्ञानिकों का समूह अधिसूचित किसी भी ‘’चुनौती’’के ढूंढे गए हल के अपने दावे को किसी भी समय पर दाखिल कर सकता है।

    Download guidelines & form

  2. सरदार पटेल उत्कृ ष्टु भाकृअनुप संस्थाैन पुरस्का र 2016

    भाकृअनुप संस्थाोनों, भाकृअनुप के मानद विश्वाविद्यालयों, केंद्रीय कृषि विश्वेविद्यालयों तथा राज्यव कृषि विश्वंविद्यालयों के उत्कृभष्टा प्रदर्शन को मान्यशता देने हेतु रु.10.00 लाख प्रत्येलक के तीन पुरस्काशर, एक प्रशस्ति पत्र तथा एक बैज (प्लैोक) दिया जाएगा। इनमें से दो पुरस्का.र भाकृअप के दो संस्थाकनों/एनआरसी/परियोजना निदेशालयों/राष्ट्री य ब्यूारो (एक बड़े और एक छोटे संस्थापन, प्रत्येंक को एक) तथा एक पुरस्काथर विश्वशविद्यालय/मानद विश्वबविद्यालयों/ केन्द्री य कृषि विश्वयविद्यालयो को दिया जाएगा।

    Download guidelines & form

  3. चौ. देवी लाल उत्कृ ष्टर अखिल भारतीय समन्वित अनुसंधान परियोजना पुरस्का्र,2016

    एआईसीआरपी तथा इसके सहयोगी केंद्रों के उत्कृ्ष्टर कार्य प्रदर्शन और उसके प्रभाव को मान्य ता देने और संपर्क एवं सहयोगों तथा अनुसंधान परिणामों के आधार पर उत्कृरष्टऔ कार्य प्रदर्शन के लिए प्रोत्सा्हन देने हेतु चयनित एआईसीआरपी को रु. 3.00 लाख का एक वार्षिक पुरस्काषर नकद (मुख्य् सहयोगी इकाई के लिए रु. 2.00 लाख और उत्कृ3ष्टस समन्वदयक इकाई के लिए रु.1.00 लाख), एक प्रशस्ति पत्र तथा एक बैज (प्लै क) दिया जाना है। पुरस्काार के लिए उन एआईसीआरपी द्वारा आवेदन किया जाना चाहिए जो कि 10 वर्षों से कार्यरत हैं। अग्रेषित करने वाले प्राधिकारी एआईसीआरपी और सर्वोत्तएम समन्व(य केन्द्रय द्वारा प्राप्तर की गई उपलब्धियों के संबध में स्पसष्टव सिफारिश दे सकता है।

    Download guidelines & form

  4. कृषि एंव सम्बूद्ध विज्ञानों में स्नाितकोत्तर उत्कृकष्ट डॉक्टो्रल थीसिस (शोध प्रबंध) अनुसंधान के लिए जवाहरलाल नेहरू पुरस्कािर 2016

    कृषि एवं सम्बलद्ध विज्ञानों के प्राथमिकता/अग्रणी क्षेत्रों मे उच्चड गुणवत्ता डाक्टोिरल थीसिस अनुसंधान को बढ़ावा देने के लिए भाकृअनुप ने रु. 50 हजार के नकद 18 पुरस्काीरों को अधिष्ठानपित किया है जिनके साथ 1 प्रशस्ति पत्र और रजत पदक (गोल्डे पॉलिश) दिया जाएगा। यह पुरस्काोर कृषि एवं सम्बाद्ध विज्ञानों में उत्कृ ष्टर मूल अनुसंधान के लिए वार्षिक रूप से दिया जाना है। यह पुरस्का र भारतीय विश्वबविद्यालयो से कृषि विज्ञान से संबंधित डाक्टो रल थीसिस के लिए अनन्यय रूप से अधिष्ठाीपित किया गया है। इस पुरस्कार के लिए पीएच.डी डिग्री/अंतिम डिग्री पुरस्का्र दिए जाने वाले वर्ष से,पिछले वर्ष अर्थात वर्ष 2015 के अन्दनर जारी की गई हो। इस पुरस्का्र के लिए एक थीसिस पर केवल एक ही बार विचार किया जाएगा। अभ्य र्थी के पास पीएच.डी थीसिस के लिए उसके द्वारा किए गए अनुसंधान कार्य से कम से कम एक अच्छे् शोध पत्र की > 6 की नास रेटिंग वाले किसी प्रख्यायत जर्नल में उसके प्रकाशन अथवा स्वीडकृति का प्रमाण उपलब्धा होना चाहिए।

    Download guidelines & form

  5. पंजाबराव देशमुख उत्कृहष्टद महिला वैज्ञानिक पुरस्काकर 2016

    इस पुरस्कार के लिए ऐसी सभी महिला वैज्ञानिक पात्र हैं जो किसी भी मान्य्ता प्राप्तै संस्थायन में कृषि और सम्ब्द्ध विषयों में अनुसंधान/विस्ताजर के कार्य से जुड़ी हैं। पुरस्काूर में रु. 1.00 लाख की नकद राशि, एक प्रशस्ति पत्र तथा महिला वैज्ञानिकों और छात्राओं को प्रोत्सासहित करने हेतु, पुरस्काधर प्राप्ति वर्ष के एक वर्ष के भीतर पूरे देश में यात्रा करने हेतु रू.1.00 लाख का प्रावधान किया गया है। पुरस्कावर अनन्यव रूप से केवल व्येक्ति विशेष महिला वैज्ञानिक को दिया जाना हैं।नामांकन प्राधिकारी, वैज्ञानिकों द्वारा किए गए सर्वाधिक महत्वञपूर्ण योगदानों को रेखांकित करते हुए सुस्प्ष्टअ अनुशंसा कर सकता है।

    Download guidelines & form

  6. शुष्कक भूमि कृषि प्रणाली में उत्कृनष्टश अनुसंधान अनुप्रयोग के लिए वसंतराव नायक पुरस्का‍र 2016

    शुष्कक भूमि कृषि प्रणाली और जल संरक्षण के प्राथमिकता वाले पहलुओं में उत्कृजष्टए अनुसंधान और अनुप्रयोग को बढ़ावा देने हेतु उत्कृसष्टप वैज्ञानिकों या विस्ताकर कार्यकर्ता को रु.1.00 लाख का वार्षिक पुरस्का र दिया जाना है। इस पुरस्कार के लिए वे सभी कृषि एवं उससे संबद्ध वैज्ञानिक पात्र हैं जो कि शुष्का खेती भूमि में अनुसंधान/प्रौद्योगिकी कार्यों से जुड़े हैं। पुरस्का र के लिए वैज्ञानिकों की अंतर-विषयक टीम, जिसमें अधिकतम 6 वैज्ञानिक हो सकते हैं, भी आवेदन कर सकती है। नामांकन प्राधिकारीद्वारा वैज्ञानिकों/वैज्ञानिकों की टीम द्वारा किए गए सर्वाधिक महत्वहपूर्ण योगदानों को रेखांकित करते हुए सुस्प्ष्टक अनुशंसा संलग्नव की जानी चाहिए।

    Download guidelines & form

  7. जगजीवनराम अभिनव किसान पुरस्का्र/जगजीवनराम नवप्रर्वतक किसान पुरस्कानर (राष्ट्री य/क्षेत्रीय) 2016

    उन्नयत प्रौद्योगिकियों और सस्यर क्रिया विधियों के विकास अंगीकरण, उन्नएयन और प्रसार में नवप्रर्क्तअक किसानों द्वारा टिकाऊपन के साथ आय बढ़ाने हेतु दिए गए उत्कृ ष्टा योगदानों को मान्यरता देने हेतु निम्न लिखित राष्ट्रीयय एवं क्षेत्रीय पुरस्कारर घोषित किए गए है :-

    (i). राष्ट्रीकय : राष्ट्री य स्त र पर किसानों को किसी भी कृषि एवं उससे सम्ब द्ध विषयों में रु.1.00 लाख प्रत्ये्क का एक वार्षिक राष्ट्रीषय पुरस्का र + अपने अनुसंधान का प्रसार करने हेतु देश में यात्रा करने के लिए समान राशि का अनुदान दिया जाना है।

    कृषि/बागवानी/पशुपालन/मात्स्यिकी/रेशम कृषि के कृषि उत्पापदन आयुक्तों /सचिवों/निदेशकों, कृषि विश्वजविद्यालयों के कुलपतियों/भाकृअनुप संस्था नों के निदेशकों द्वारा अपनी अधिकारिता क्षेत्रों में पुरस्कादर हेतु किसानों की पहचान एवं नामांकन किया जाएगा और प्रमाणिक सूचना परिषद को भेजी जाएगी।

    (ii).क्षेत्रीय : रु. 0.50 लाख के प्रत्येकक 8 वार्षिक पुरस्काेर + अपनी उपलब्धियों का प्रसार करने तथा अपने परिप्रेक्ष्यो क्षेत्र में किसानों को प्रोत्सा्हित करने के लिए यात्रा करने हेतु समान राशि का यात्रा अनुदान। देश में सभी केवीके क्षेत्रवार विभाजित हैं। देश में 8 क्षेत्र हैं और प्रत्ये क क्षेत्र का प्रमुख क्षेत्रीय परियोजना निदेशक है। प्रत्येशक क्षेत्र का भौगोलिक क्षेत्र पुरस्का र के दिशा-निर्देशों में इंगित किया गया है।

    कृषि/बागवानी/पशुपालन/मात्स्यिकी/रेशम कृषि के कृषि उत्पा दन आयुक्तों /सचिवों/निदेशकों, कृषि विश्वसविद्यालयों के कुलपतियों/भाकृअनुप संस्था्नों के निदेशकों और केवीके के क्षेत्रीय परियोजना निदेशकों/एनजीओ द्वारा अपनी अधिकारिता क्षेत्रों मे पुरस्काथर हेतु किसानों की पहचान और नामांकन किया जाएगा और प्रमाणिक सूचना परिषद को भेजी जाएगी।नामांकन प्राधिकारी नामांकितों द्वारा किए गए योगदानों को रेखांकित करते हुए तथा नामांकन के लिए पूर्ण औचित्यि देते हुए एक सुस्प ष्टत अनुशंसा को रिकॉर्ड पर रखा जाना चाहिए।

    Download guidelines & form

  8. विविधी‍कृत कृषि के लिए एन. जी. रंगा किसान पुरस्का र 2016

    विविधकृत कृषि के लिए नवप्रर्क्तीक किसानों के उत्कृ.ष्टा योगदान को मान्यरता देने हेतु भाकृअनुप द्वारा विविधिकृत कृषि के किसी भी क्षेत्र में रु.1.00 लाख का वार्षिक पुरस्का्र दिया जाना है।

    कृषि/बागवानी/पशुपालन/मात्स्यिकी/रेशम कृषि के कृषि उत्पा दन आयुक्तोंर/सचिवों/निदेशकों, कृषि विश्वतविद्यालयों के कुलपतियों/भाकृअनुप संस्थाेनों के निदेशकों और केवीके के क्षेत्रीय परियोजना निदेशकों/एनजीओ तथाे पादप और प्राणी विज्ञानों से सम्बशद्ध अन्ये संगठनों द्वारा अपने अधिकार क्षेत्रों मे पुरस्काार हेतु किसानों की पहचान एवं उनका नामांकन किया जाएगा और प्रमाणिक सूचना परिषद को भेजी जाएगी। इस क्षेत्रीय पुरस्कांर के लिए ऐसे सभी चयनित किसान भी पात्र हैं जो कि पुरस्काजर के मानदंडों की पूर्ति करते हैं। नामांकन प्राधिकारी, नामांकितों द्वारा किए गए योगदानों को रेखांकित करते हुए तथा नामांकन के लिए पूर्ण औचित्यन देते हुए एक सुस्पनष्ट् अनुशंसा को रिकॉर्ड पर रख सकता है।

    Download guidelines & form

  9. पंडित दीन दयाल उपाध्यातय अंत्योादय कृषि पुरस्कातर 2017 (राष्ट्री य एवं क्षेत्रीय)
  10. खेती के टिकाऊ समेकित प्रारूपों (मॉडल्स) के विकास हेतु सीमांत, लघु एवं भूमिहीन किसानों के योगदानों की सराहना के लिए भाकृअप ने पंडित दीन दयाल उपाध्यापय अंत्योेदय कृषि पुरस्कारर (राष्ट्री य एवं क्षेत्रीय) वार्षिक का गठन किया है। राष्ट्री य स्त र के लिएरू.1,00,000 (एक लाख रू. मात्र) का एक और पुरस्कारर प्रमाण-पत्र वार्षिक रूप से दिया जाता है। क्षेत्रीय स्तिर पर कुल 11 पुरस्का्र होंगे; एटीएआरआई के प्रत्ये्क क्षेत्र के लिए रू. 50,000 (पचास हजार रू. मात्र) से निर्मित 1-1 पुरस्काएर होगा। (नामांकन प्राधिकारी, नामांकितों द्वारा किए गए योगदानों को रेखांकित करते हुए तथा नामांकन के लिए पूर्ण औचित्य देते हुए एक सुस्पाष्ट अनुशंसा करें।)

    Download guidelines & form

  11. हलधर जैविक कृषि पुरस्कारर 2016

    आर्गेनिक किसानों के उत्कृ ष्टि योगदान को सम्माोन देने के लिए आईसीएआर ने हलधर आर्गेनिक किसान पुरस्कानर 2015 नामक पुरस्कागर अधिष्ठाेपित किया है। इस पुरस्का र के लिए रू. 1,00,000/- (एक लाख रूपए मात्र) दिए जाते हैं। यह पुरस्का र प्रतिवर्ष दिया जाता है। प्रक्षेत्र फसलों/बागवानी फसलों/औषधीय फसलों/दुग्धा उत्पा दों आदि के क्षेत्र में आर्गेनिक कृषि क्रिया- कलापों में कार्यरत और दस वर्ष का अनुभव रखने वाला कोई भी किसान इसका पात्र हो सकता है। आवेदनों को अनिवार्य रूप से अनुशंसित प्रारूप में जमा कराया जाना चाहिए और इसे उपयुक्ता रूप से सत्याआपित तथा सक्षम अग्रेषण प्राधिकारी द्वारा अग्रसारित किया जाना चाहिए।

    Download guidelines & form

  12. कृषिअनुसंधान और विकासमें उत्कृ्ष्टवपत्रकारिता के लिए चौधरी चरण सिंह पुरस्का र 2016

    प्रिंट मीडिया (हिंदी पत्रकारिता/अंग्रेजी पत्रकारिता/क्षेत्रीय भाषाओं में पत्रकारिता) के लिए (चार पुरस्कासर) और इलेक्ट्रॉ निक मीडिया (दो पुरस्कार) के लिए रू.1.00 लाख (एक लाख रुपए मात्र) की नकद राशि के छ: वार्षिक पुरस्कातर और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाना है। पत्रकारों के योगदान का मूल्यांिकन पिछले तीन वर्षों के दौरान भारत में हिंदी/अंग्रेजी/क्षेत्रीय भाषाओं के समाचार पत्रों/पत्रिकाओं/जर्नलों में प्रकाशित/ इलेक्ट्रॉ निक मीडिया में प्रसारित उनके लेखों/सफल गाथाओं के आधार पर किया जाएगा।आवेदनों को अनिवार्य रूप से अनुशंसित प्रारूप में जमा कराया जाना चाहिए और इसे उपयुक्ति रूप से सत्यायपित तथा सक्षम अग्रेषण प्राधिकारी द्वारा अग्रसारित किया जाना चाहिए।

    Download guidelines & form

  13. जनजातीय खेती प्रणाली में उत्कृतष्टा अनुसंधान के लिए फखरुद्दीन अली अहमद पुरस्काहर 2016

    यह पुरस्कांर मुख्य रूप से किसी भी ऐसे व्य)क्ति या टीम (दो या तीन लोगों, यदि कोई हों) को दिया जाना है, जो कि देश के जनजा‍तीय क्षेत्रों में अनुप्रयुक्त( अनुसंधान और अनुप्रयोगों से जुड़े हैं जिनका उद्देश्यर जनजातीय किसान खेती प्रणाली से प्रत्यअक्ष रूप से लागू मूल कार्य या जैविक संसाधनों और आजीविकाओं में सुधार लाना है। इसके अंतर्गत रु.1.00 लाखप्रत्येैक, के दो पुरस्कांर एवं प्रशस्ति पत्र दिए जाने हैं और इसके अलावा 1 वर्ष के लिए कार्य के भौगोलिक क्षेत्र में संबंधित विषय पर अध्युयन करने के लिए समान राशि का प्रावधान किया गया है।(नामांकन प्राधिकारी, वैज्ञानिकों/वैज्ञानिकों की टीम द्वारा किए गए सर्वाधिक महत्वरपूर्ण योगदानों को रेखांकित करते हुए सुस्पाष्ट/ अनुशंसा कर सकता है।)

    Download guidelines & form

  14. उत्कृकष्ट शिक्षकों के लिए भारत रत्नन डॉ. सी. सुब्रह्मणयम पुरस्का र 2016

    उत्कृसष्टय शिक्षकों को मान्याता देने तथा कृषि के क्षेत्र में गुणवत्तापूर्ण शिक्षण को बढ़ावा देने हेतु चार उत्कृीष्टो शिक्षक पुरस्का‍र वार्षिक रूप से दिए जाने हैं। प्रत्येाक पुरस्का़र में रु.1.00 लाख की नकद राशि + शिक्षण में नवप्रवर्तन को बढ़ावा देने के लिए रु.1.00 लाख का यात्रा अनुदान शामिल है। पुरस्काृरों के लिए राज्यप कृषि विश्व विद्यालयों, केंद्रीय कृषि विश्व़विद्यालयों और मानद कृषि विश्वकविद्यालयों के पात्र शिक्षकों से उचित माध्येम द्वारा आवेदन आमंत्रित किए जाते हैं।अग्रेषण प्राधिकारी, संबंधित शिक्षक द्वारा सर्वाधिक महत्वैपूर्ण योगदानों को रेखांकित करते हुए सुस्पृष्टि अनुशंसा आवश्यकक रूप से संलग्नव करे।

    Download guidelines & form

  15. पंडित दीन दयाल उपाध्यांय कृषि विज्ञान प्रोत्साहन पुरस्का र (राष्ट्री य एवं क्षेत्रीय) 2017

    यह पुरस्कापर कृषि में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के अनुप्रयोग के लिए क्षेत्रीय एवं राष्ट्रीरय स्तार पर कृषि विज्ञान केंद्रों (केवीके) के बीच स्वुस्थ प्रतिस्प्र्धा को बढ़ाने के लिए दिया जाता है। सभी केवीके, सक्षम अग्रेषित करने वाले प्राधिकारी द्वारा अभिप्रमाणित और उपयुक्तर रूप से अग्रसारित निर्धारित प्रारूप में इन पुरस्कारों के लिए आवेदन प्रस्तु त कर सकते हैं।

    राष्ट्री य स्त र पर प्रतियोगिता के लिए रू. 25.0 लाख (रू. 20.00 लाख बुनियादी ढांचे के विकास के लिए +रू. 1.0 लाख कर्मचारियों के बीच बांटे जाने के लिए + 4.0 लाख रू. केवीके कर्मचारियों के प्रशिक्षण के लिए) का एक पुरस्काेर है।

    क्षेत्रीय स्तेर पर कुल 11 पुरस्काएर हैं; केवीके के प्रत्येउक क्षेत्र के लिए एक पुरस्काेर है। प्रत्ये क पुरस्काीर रू. 2.25 लाख का (कार्यालय/कृषि उपकरणों की खरीद के लिए रू. 1.50 लाख + रू.0.75 लाख केवीके कर्मचारियों के प्रशिक्षण के लिए) है।

    भाकृअप संस्थािनों के निदेशक/संयुक्ते निदेशक/कृषि विश्वसविद्यालयों के विस्तायर के निदेशक/ एटीएआरआई के निदेशक अपने संचालन के संबंधित क्षेत्रों में आवेदनों को अग्रसारित कर सकते हैं। अग्रेषण प्राधिकारी, संबंधित केवीके द्वारा दिए गए विशिष्टर एवं सर्वाधिक उल्लेकखनीय योगदान पर 1-2 पेज का नोट संलग्नक करें।

    Download guidelines & form

  16. कृषि और सम्ब द्ध विज्ञानों में हिंदी में तकनीकी पुस्त कों के लिए डॉ. राजेन्द्रे प्रसाद पुरस्का र, 2016

    ये पुरस्का र कृषि और सम्ब‍द्ध विज्ञानों में मौलिक हिन्‍दी तकनीकी पुस्तककों के लेखकों को मान्यरता प्रदान करते हैं और कृषि और सम्बजद्ध विज्ञानों में हिंदी में मौलिक मानक रचनाएं लिखने के लिए भारतीय लेखकों को प्रोत्सािहित करते हैं। यह पुरस्का र व्यंक्तिगत लेखक तथा साथ ही लेखकों की टीम के लिए रखा गया है। एक व्यहक्तिगत पुरस्का‍र में रू.1.00 लाख नकद और प्रशस्ति पत्र प्रदान किया जाता है। चार पुरस्का र दिए जाते हैं जो फसल/बागवानी विज्ञानों; एनआरएम/कृषि अभियांत्रिकी; पशु/मात्स्यिकी विज्ञानों और सामाजिक विज्ञानों में प्रत्येमक के लिए एक-एक दिया जाता है। भारतीय लेखकों द्वारा जिनमें कई लेखकों द्वारा लिखी पुस्ताकों के सम्पामदक शामिल है, जिनमें सम्पाकदक ने भी स्वेयं पर्याप्तप रूप से योगदान किया हो, कृषि और सम्बाद्ध विज्ञानों के निर्दिष्टम विषयों पर लिखी गई सभी मौलिक हिन्दीा तकनीकी पुस्तगकें इसके लिए पात्र हैं। लेखक/सम्पा्दक की कृषि और सम्बलद्ध विज्ञानों के प्रासंगिक क्षेत्र में पर्याप्तत और सक्रिय भागीदारी अवश्यञ होनी चाहिए। प्रकाशन कापी राइट के किसी भी उल्लं्घन से मुक्त् होना चाहिए। प्रकाशन निश्चित रूप से पुरस्काहर के वर्ष से पूर्ववर्ती वर्ष में लिखा व प्रकाशित होना चाहिए।अग्रेषण प्राधिकारी द्वारा प्रकाशन की मौलिकता एवं तकनीकी गुणवत्ताख पर सुस्पाष्टअ अनुशंसा अवश्यष संलग्नर होची चाहिए।

    Download guidelines & form

  17. लाल बहादुर शास्त्री उत्कृ ष्टी युवा वैज्ञानिक पुरस्काकर, 2016

    ऐसे प्रतिभावान युवा वैज्ञानिकों को सम्माीनित करने के लिए, जिन्होंाने अनुसंधान कार्यक्रमों में असाधारण मौलिकता और समर्पण दर्शाया हो, प्रतिवर्ष चार व्य क्तिगत पुरस्काार दिए जाते हैं। इसके तहत रू.1.00 लाख नकद एवं एक प्रशस्ति पत्र प्रदान किया जाता है और यदि आइसीएआर द्वारा आवश्य.क समझा जाता है तो रू.10.00 लाख प्रतिवर्ष के बजट प्रावधान की तीन वर्षीय एक चैंलेंज परियोजना + विदेश में प्रशिक्षण के लिए रू.5.00 लाख (3 माह तक) प्रदान किए जाते हैं। चैंलेंज परियोजना और विदेश प्रशिक्षण का संचालन/मानीटरिंग आईसीएआर के कृषि शिक्षा प्रभाग द्वारा किया जाता है। ऐसे सभी युवा वैज्ञानिक जो (31 दिसम्बार, 2015 को) 40 वर्ष से कम आयु के हैं और जिनके पास डॉक्टकरेट की डिग्री है तथा आईसीएआर-एसएयूकी संस्था प्रणाली में नियमित आधार पर शिक्षण, अनुसंधान,प्रसार शिक्षा का कार्य कर रहे हैं तथा जो कम से कम लगातार पांच वर्ष से कृषि एवं सम्बकद्ध विज्ञानों में अनुसंधान कार्य में लगे हुए हैं, इस योजना के तहत विचार किए जाने के लिए पात्र हैं। अग्रेषण प्राधिकारी,संबंधित वैज्ञानिक द्वारा किए गए सर्वाधिक महत्व पूर्ण योगदानों को रेखांकित करते हुए सुस्पिष्टथ अनुशंसा कर सकता है।

    Download guidelines & form

  18. कृषि विज्ञानों में उत्कृकष्टह अनुसंधान के लिए रफी अहमद किदवई पुरस्कारर, 2016

    कृषि और सम्ब।द्ध विज्ञानों में उत्कृाष्टन अनुसंधान के लिए सम्माान प्रदान करने तथा कृषिअनुसंधान में उत्कृ्ष्टंता को प्रोत्सा्हित करने के लिए यह पुरस्का‍र कृषि वैज्ञानिकों को विनिर्दिष्‍ट क्षेत्रों में उत्कृतष्टस योगदान के लिए दिया जाता है। इस पुरस्काकर योजना के तहत कुल चार पुरस्कानर प्रदान किए जाते हैं। प्रत्येकक पुरस्कानर के लिए रू. 5.00 लाख नकद तथा उसके साथ एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। इन पुरस्का्रों के लिए कृषि अनुसंधान में लगे सभी भारतीय वैज्ञानिक और भारतीय कृषि से संबंधित क्षेत्रों में विदेश में कार्य करने वाले सभी भारतीय वैज्ञानिक पात्रहैं।अग्रेषण प्राधिकारी, संबंधित वैज्ञानिक द्वारा किए गए सर्वाधिक महत्वयपूर्ण योगदानों को रेखांकित करते हुए सुस्प ष्टध अनुशंसा कर सकता है।

    Download guidelines & form

  19. स्वावमी सहजानन्दो सरस्वाती उत्कृीष्टर विस्तांर वैज्ञानिक पुरस्कारर 2016

    यह पुरस्कामर अनन्य् रूप से कृषि विस्ता र पद्धति और शिक्षा कार्य में उत्कृाष्टतता के लिए व्यपक्तिगत विस्तारर वैज्ञानिक/अध्यािपक को प्रदान किया जाता है। दो व्यकक्तिगत पुरस्कालरों का प्रावधान किया गया है। एक व्यतक्तिगत पुरस्कायर के लिए रू. 1.00 लाख और प्रशस्ति पत्र प्रदान किया जाता है। समस्तय कृषि और सम्ब्द्ध विज्ञानों के विषयों के लिए दो पुरस्काैर निर्धारित किए गए हैं। आवेदनों को अनिवार्य रूप से अनुशंसित प्रारूप में जमा किया जाना चाहिए और इसे सक्षमअग्रेषण प्राधिकारी द्वारा प्रमाणित और अग्रसारित होना चाहिए।

    Download guidelines & form

  20. कृषि उपकरणों पर नवोन्वेाषणएवं अनुसंधान के लिए एनएएसआई-आईसीएआर पुरस्का।र, 2016

    कृषि उपकरणों का विकास करके कृषि महिलाअें के श्रम को कम करने के लिए तथा खेतीहर महिलाओं के लिए कृषि उपकरण विकसित करने के लिए अनुसंधानकर्ताओं और आविष्काीरकों को बढ़ावा देने के‍ लिए एनएएसआई-आईसीएआर ने कृषि उपकरणों परनवोन्वे‍षणएवं अनुसंधान के लिए एनएएसआई आईसीएआर पुरस्कातर,2015अधिष्ठाीपितकिया है। इस पुरस्कानर के लिए रू.1.00 लाख नकद और प्रशस्ति पत्र प्रदान किया जाता है। यह पुरस्काार प्रति वर्ष दिया जाता है। कृषि फार्म उपकरणों से संबंधित अनुसंधान में लगे सभी वैज्ञानिक, इंजीनियर/ आविष्काकरक इसके पात्र होते हैं।

    Download guidelines & form

  21. द्विवर्षीय 2014-15 के लिए हरिओम आश्रम ट्रस्टक पुरस्कांर

    कृषि एवं सम्ब द्ध विज्ञानों में, दीर्घकालिक समस्याध पर उत्कृ ष्टु अनुसंधान को मान्यरता देने के लिए 4 व्यबक्तिगत पुरस्काेरों का गठन किया गया। प्रत्येीक व्य क्तिगत पुरस्का र, प्रशस्ति पत्र के अतिरिक्त4 रू.1.00 लाख का है। फसल/बागवानी विज्ञान, संसाधन प्रबंधन/ कृषि अभियांत्रिकी, प्राणी/मात्स्यिकी विज्ञान और भारत में समाजविज्ञान के क्षेत्र से जुड़े सभी वैज्ञानिक इस पुरस्का्र के लिए पात्र हैं। यह पुरस्काार एकल वैज्ञानिकों एवं वैज्ञानिकों की टीम के लिए भी खुला है। आवेदनों को अनिवार्य रूप से अनुशंसित प्रारूप में जमा किया जाना चाहिए और इसे सक्षमअग्रेषण प्राधिकारी द्वारा उचित रूप से अधिप्रमाणित और अग्रसारित किया जाना चाहिए।

    Download guidelines & form

  22. प्रशासनिक पुरस्काधर 2016

    उत्कृकष्टण कार्यनिष्पातदन को सम्माधन देने के लिए आईसीएआर ने आईसीएआर के अनुसंधान संस्थाानों/एनआरसीएस/ब्यूपरो/ जैडसीयूएस के प्रशासनिक/ तकनीकी/ सहायक श्रेणी के कर्मचारियों के लिए नकद पुरस्काोर योजना शुरू की है। आईसीएआर के नियमित कर्मचारियों से प्राप्त् आवेदनपत्रों में से चुने गए पुरस्काुर विजेताओं को 51,000/- रूपए (केवल इक्यानवन हजार रूपए) के तीन वार्षिक पुरस्काचर दिए जाते हैं। अग्रेषण प्राधिकारी कर्मचारी द्वारा उसके सेवाकाल में की गई सर्वाधिक महत्वरपूर्ण गतिविधि पर एक विस्तृेत नोट उपलब्ध करा सकते हैं।

    Download guidelines & form

 

इन पुरस्का्रों के लिए निर्धारित पात्रता संबंधी मानदंड, दिशा- निर्देश और आवेदन करने के लिए प्रोफार्मा, अपना पता लिखा लिफाफा भेजकर परिषद से 30.11.2016 से पूर्व प्राप्त किया जा सकता हैा इसे आईसीआर की वेबसाइट (www.icar.org.in) से भी डाउनलोड किया जा सकता है। पूरे दस्तासवेजों के साथ आवेदनपत्र की सात प्रतियां डॉ. शिव प्रसाद किमोठी, सहायक महानिदेशक (समन्वाय), आईसीएआर, कमरा सं. 502, कृषि भवन, डॉ. राजेन्द्रा प्रसाद रोड, नई दिल्लीी -110001 के पास भेज दी जानी चाहिएं ताकि ये उनके पास 31.12.2016को या उससे पूर्व पहुंच जाएं। अंडमान और निकोबार द्वीपसमूह, लक्षद्वीप, उत्त र पूर्वी क्षेत्र के राज्यों / संघ राज्य् क्षेत्रों, जम्मू एवं कश्मीदर राज्यआ के लद्दाख प्रभाग और सिक्किम में रहने वाले उम्मीादवारों के लिए अंतिम तारीख 15.01.2017है। उम्मी्दवारों को आवेदनपत्रों/दस्ताीवेजों की सात प्रतियां प्रस्तु्त करनी होंगी अन्यएथा आवेदनपत्र पर विचार नहीं किया जाएगा। यदि कोई अनुबंध हो तो वह केवल एक प्रति के साथ संलग्न किया जाए। उम्मीादवारों को बैंक खाता नम्बमर, बैंक का पता, आईएफएससी कोड और पैन नम्बआर के साथ साथ अपने संपर्क का ब्यौंरा भी स्पमष्टा रूप से देना चाहिए। कैंसल किए गए चैक की प्रति संलग्नि की जाए। परिषद, पुरस्कृातआवेदनपत्रों/थीसिज़ को रिकार्ड के लिए अपने पास रख लेगी।
प्रत्ये क उम्मीादवार के बारे में निर्णय उसके द्वारा प्रस्तुयत दस्ताृवेजों में यथा प्रकाशित मौलिकता और अन्वे‍षणों के अनुप्रयुक्त मूल्यण के आधार पर लिया जाएगा। पुरस्का्र से संबंधित सभी मामलों में परिषद का निर्णय अंतिम होगा तथा इस बारे में किसी पत्राचार पर विचार नहीं किया जाएगा।