केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्य मंत्री द्वारा आसीएआर- आईआईवीआर का दौरा

10 नवम्बर, 2016

केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्य मंत्री श्री सुदर्शन भगत द्वारा 10 नवम्बर, 2016 को भाकृअनुप – भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान, वाराणसी का दौरा किया गया।

केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्य मंत्री द्वारा आसीएआर- आईआईवीआर का दौराकेन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्य मंत्री द्वारा आसीएआर- आईआईवीआर का दौरा

मंत्री महोदय द्वारा इस अवसर पर जनजातीय उप योजना 2014-17 के तहत उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले के जनजातीय किसानों की आजीविका एवं पोषण सुरक्षा के लिए प्रशिक्षण एवं प्रदर्शन कार्यक्रमों का उद्घाटन किया गया। उन्होंने किसानों से खेती में उत्पादकता बढ़ाने के लिए आईआईवीआर द्वारा विकसित कल्टीवेटर तथा उत्पादन सुरक्षा प्रौद्योगिकी को अपनाने के लिए आग्रह किया। इसके साथ ही उन्होंने किसानों को प्रोत्साहित किया कि वे संस्थान के वैज्ञानिकों से समय-समय पर सुझाव तथा अनुशंसित उर्वरकों की मात्रा तथा पौध सुरक्षा विधियों से जुड़ी जानकारियां प्राप्त करें।

इस अवसर पर श्री भगत द्वारा ‘आईसीएआर – आईआईवीआर टेक्नोलॉजी फॉर कमर्शियलाइजेशन’ शीर्षक वाले द्विभाषी प्रकाशन को जारी किया गया तथा संस्थान के अनुसंधान खेतों तथा प्रयोगशाला का दौरा किया गया। इसके साथ ही उन्होंने जनजातीय उपयोजना (टीएसपी) के तहत अपनाये गए 14 गांवों के 41 किसानों से संवाद किया। इन गांवों को प्रशिक्षण के लिए विशेष तौर पर चुना गया तथा किसानों को उन्नत सब्जी बीजों और स्प्रेयर (छिड़काव यंत्र) भी वितरित किए गए हैं।

डॉ. बिजेन्द्र सिंह, निदेशक, आईसीएआर – आईआईवीआर ने अपने स्वागत भाषण में संस्थान की हालिया गतिविधियों एवं जारी विस्तार गतिविधियों के बारे में जानकारी दी। इसके साथ ही उन्होंने टीएसपी के तहत अपनाए गए उत्तर प्रदेश के 14 गावों के साथ ही यूपी तथा बिहार के 40 गांवों में ‘मेरा गांव मेरा गौरव’ और ‘सांसद आदर्श गांव’ योजना के माध्यम से प्रशिक्षण तथा प्रदर्शनों द्वारा सफलतापूर्वक तकनीक हस्तांतरण के बारे में जानकारी प्रदान की।

(स्रोतः भाकृअनुप – भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान, वाराणसी)