कृषि विज्ञान केन्द्र, मोरबी का शिलान्यास कार्यक्रम

कृषि विज्ञान केन्द्र, मोरबी का शिलान्यास कार्यक्रम

27 अक्टूबर, 2016, मोरबी, गोर खिजाडिया

श्री पुरूषोत्तम रूपाला, केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्य मंत्री और श्री चिमनभाई सपारिया, कृषि एवं ऊर्जा मंत्री, गुजरात द्वारा गोर खिजाडिया गांव में केवीके, मोरबी का शिलान्यास किया गया। इस अवसर पर श्री जयंतीभाई रामजीभाई कवाड़िया, पंचायत, ग्रामीण आवास और ग्रामीण विकास राज्य मंत्री, गुजरात, श्री मोहनभाई कुंडारिया, सांसद एवं पूर्व केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्य मंत्री, डॉ. ए.के. सिंह, उपमहानिदेशक (कृषि विस्तार), भाकृअनुप, डॉ. ए.आर. पाठक, कुलपति, जूनागढ़ कृषि विश्वविद्यालय, जूनागढ़, श्री बावनजीभाई मेटालिया, सांसद, टेंकारा, श्री कांतिलाल अमरूतिया, सांसद, मोरबी भी इस कार्यक्रम में शामिल हुए।

श्री रूपाला ने एफएलडी के महत्व तथा प्रौद्योगिकी एवं ज्ञान को किसानों के खेतों तक पहुंचाने के लिए केवीके की प्रशंसा की। उन्होंने कृषि जिंसों के लिए समर्थन मूल्य निर्धारित करने में सहयोग प्रदान करने का आश्वासन दिया। इसके साथ ही विस्तार से प्रधानमंत्री सिंचाई योजना के बारे में चर्चा की और जिला स्तर की सिंचाई तैयारियों को पूरा करने को कहा।

श्री चिमनभाई सपारिया ने अपने संबोधन में कृषि क्षेत्र में ज्ञान और कौशल विकास के लिए कृषि विज्ञान केंद्र की क्षेत्र में स्थापना के लिए किसानों को बधाई दी।

श्री सपारिया ने विभिन्न कृषि जिंसों के समर्थन मूल्य निर्धारित करने में केंद्र सरकार के सहयोग की सराहना की। उन्होंने किसानों को सुझाव दिया कि वे पॉलीहाउस और कृषि आदानों के लिए जारी योजनाओं का लाभ उठाएं।

श्री मोहनभाई कुंडारिया ने नई कृषि तकनीकों की आवश्यकता पर बल दिया और किसानों से आग्रह किया कि वे कृषि क्षेत्र के लिए शुरू की गई विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ उठाएं।

श्री बावनजीभाई मेटालिया और श्री कांतिलाल अमरूतिया ने भी इस अवसर पर अपने विचार व्यक्त किए।

डॉ. ए.आर. पाठक ने उन्नत कृषि हेतु प्राकृतिक संसाधनों के प्रयोग के लिए किसानों की प्रशंसा की तथा कृषि क्षेत्र में बढ़ती समस्याओं के मद्देनजर उन्नत आधुनिक तकनीकों के महत्व पर चर्चा की।

डॉ. ए.के. सिंह ने केवीके के उद्देश्यों और फसलों के उत्पादन से संबंधित विभिन्न समस्याओं को सुलझाने में ज्ञान व कौशल की भूमिका के बारे में संक्षिप्त जानकारी दी।

(स्रोतः अटारी, क्षेत्र - 6, जोधपुर)