केवीके, मुरैना में किसान मेला व मुधमक्खी पालन पर जागरूकता कार्यक्रम

20 अक्टूबर, 2016

आरवीएसकेवीवी कृषि विज्ञान केन्द्र और क्षेत्रीय कृषि अनुसंधान केन्द्र, मुरैना (मध्य प्रदेश) द्वारा संयुक्त रूप से किसान मेला, प्रदर्शनी और मधुमक्खी पालन जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

Kisan Mela and  Beekeeping Awareness Programme at KVK, MorenaKisan Mela and  Beekeeping Awareness Programme at KVK, MorenaKisan Mela and  Beekeeping Awareness Programme at KVK, Morena

केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री राधा मोहन सिंह ने अपने संबोधन में सरकार द्वारा जारी विभिन्न किसानोपयोगी योजनाओं के बारे में बताया और किसानों से आग्रह किया कि वे इनका लाभ उठाए। उन्होंने जैविक खेती, प्राकृतिक खेती एवं गाय आधारित खेती पर जोर दिया जिससे खेती लागत को घटाया और फसलों की उत्पादकता को बढ़ाया जा सके। श्री सिंह ने कहा कि फसल उत्पादकता बढ़ाने और किसानों की अतिरिक्त आय के लिए मधुमक्खी पालन पर ध्यान केन्द्रित करना चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने सिंचाई और संकरी घाटियों के प्रबंधन पर भी चर्चा की।

श्री नरेन्द्र सिंह तोमर, केन्द्रीय ग्रामीण विकास एवं पंचायत मंत्री, राजस्थान ने अपने संबोधन में कृषि में फसलों के उत्पादन लागत को घटाने, मधुमक्खी पालन द्वारा स्वरोजगार तथा किसानों की अतिरिक्त आमदनी और आरवीएसकेवीवी के वैज्ञानिकों द्वारा विकसित असाह गांव मॉडल के आधार पर चंबल घाटी क्षेत्र में फसल उत्पादन के बारे में चर्चा की।

श्री रूस्तम सिंह, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री, मध्य प्रदेश ने अपने संबोधन में सूक्ष्म सिंचाई, बागवानी फसलों की खेती बढ़ाने, मुरैना जिले में राष्ट्रीय बागवानी मिशन के क्रियान्वयन और मधुमक्खी पालन पर बल दिया।

इस अवसर पर गणमान्यों द्वारा ‘एकीकृत मधुमक्खी पालन विकास केन्द्र’ की आधारशिला रखी गई और मुरैना जिले में फार्मर्स फर्स्ट योजना का शुभारंभ किया गया।

श्री मुंशी लाल, अध्यक्ष, कुक्कुट निगम, श्रीमती गीता हर्षना, अध्यक्ष, जिला पंचायत, श्री सूबेदार सिंह, विधायक, जौरा, श्री सत्यपाल सिंह, विधायक, सुमावली और श्री अशोक अग्रवाल, मेयर, नगर निगम, मुरैना ने भी इस कार्यक्रम में भाग लिया।

राज्य के कृषि विश्वविद्यालयों के कुलपति, भाकृअनुप मुख्यालय के वरिष्ठ अधिकारी, भाकृअनुप संस्थानों के निदेशकगणों ने इस कार्यक्रम में भाग लिया और अपने विचार रखें।

कृषि विज्ञान केन्द्र, मुरैना, ग्वालियर, शिवपुर, भिंड, शिवपुर, गुना और अशोकनगर ने प्रदर्शन में किसान के लिए उपयोगी प्रौद्योगिकियों का प्रदर्शन किया।

लगभग 2500-3000 किसानों और प्रदर्शनकर्ताओं ने कार्यक्रम में भाग लिया।

(स्रोतः आरवीएसकेवीवी – कृषि विज्ञान केन्द्र, मुरैना)