उमियम, मेघालय में प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना पर अखिल भारतीय सेवा अधिकारियों के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम

उत्तर-पूर्वी भारत के अखिल भारतीय सेवा अधिकारियों (आईएएस एवं आईएफएस) के लिए ‘प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना (PMHSY) के तहत जिला सिंचाई योजना (DIP) को तैयार करना’ विषय पर दिनांक 5 – 9 अक्‍तूबर, 2015 को उत्तर-पूर्वी पर्वतीय क्षेत्र के लिए भाकृअनुप का अनुसंधान परिसर, उमियम केन्‍द्र में पांच दिवसीय क्षमता विकास कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम का उद्देश्‍य अधिकारियों की तकनीकी दक्षता में संवृद्धि करना था ताकि उन्‍हें अपने जिले में ’प्रधान मंत्री कृषि सिंचाई योजना को प्रभावी ढ़ंग से लागू करने में समर्थ बनाया जा सके जिससे कि हर खेत को पानी  स्‍लोगन को वास्‍तविकता में साकार किया जा सके।

Training Programme for all India service officers on PMKSY at UmiamTraining Programme for all India service officers on PMKSY at Umiam

श्री आर.बी. सिंह, संयुक्‍त सचिव (एजी) ने अपने उद्घाटन संबोधन में प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के विशेष संदर्भ में सरकारी नीतियों और योजनाओं से प्रशिक्षुओं को अवगत कराया। उन्‍होंने प्रशिक्षु अधिकारियों से पारम्‍परिक जानकारी और प्रबंधन की उन्‍नत विधियों का उपयोग करके जल संसाधनों का उचित प्रबंधन करने का अनुरोध किया।

श्री संजीव चोपड़ा, आईएस (एजी) एवं मिशन निदेशक, प्रधान मंत्री कृषि सिंचाई योजना (PMHSY) ने अपने मुख्‍य संबोधन में प्रशिक्षण की जरूरतें बताईं और इस बात पर बल दिया कि प्रत्‍येक खेत में पानी की कुछ हद तक पहुंच होनी चाहिए और अधिक फसल के लिए प्रत्‍येक बूंद पर ध्‍यान दिया जाना चाहिए। इन्‍होंने कहा कि क्षेत्र में जनजातीय समुदाय के सामाजिक विकास और खाद्य सुरक्षा को सुनिश्चित बनाने के लिए जल की उत्‍पादकता को बढ़ाये जाने की जरूरत है।

इससे पहले, डॉ. एस.वी. नचान, निदेशक, उत्तर-पूर्वी पर्वतीय क्षेत्र के लिए भाकृअनुप का अनुसंधान परिसर, उमियम केन्‍द्र ने अपने स्‍वागत संबोधन में इस क्षेत्र में जल संचयन की व्‍यापक संभावनाओं के बारे में विस्‍तार से बताया और क्षेत्र में उत्‍पादन और उत्‍पादकता को बढ़ाने के लिए जल उपयोग प्रभावशीलता में वृद्धि करने हेतु जल की बहुपयोगी संभावनाओं के बारे में बताया।

इस कार्यक्रम को कृषि एवं किसान कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार, नई दिल्‍ली द्वारा प्रायोजित किया गया।

डॉ. आर.के. सिंह, संभागाध्‍यक्ष, कृषि अभियांत्रिकी संभाग, उत्तर-पूर्वी पर्वतीय क्षेत्र के लिए भाकृअनुप का अनुसंधान परिसर, उमियम केन्‍द्र ने धन्‍यवाद ज्ञापन प्रस्‍तुत किया।

(स्रोत : उत्तर-पूर्वी पर्वतीय क्षेत्र के लिए भाकृअनुप का अनुसंधान परिसर, उमियम केन्‍द्र)