एकीकृत जलसंभर प्रबंधन परियोजना पर प्रशिक्षक प्रशिक्षण

'एकीकृत जलसंभर प्रबंधन परियोजना (आईडब्ल्यूएमपी)' पर तीन दिवसीय (14 - 16 जून, 2016) प्रशिक्षक प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। यह प्रशिक्षण कार्यक्रम भाकृअनुप – भारतीय मृदा एवं जल संरक्षण संस्थान, देहरादून और एमएएनएजीई, हैदराबाद के सहयोग से आयोजित किया गया।

Trainers Training on Integrated Watershed Management ProjectsTrainers Training on Integrated Watershed Management Projects

डॉ. पी. के. मिश्रा, निदेशक, भाकृअनुप- आईआईएसडब्ल्यूसी ने प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना (पीएमकेएसवाई) के विभिन्न घटकों के महत्व पर जोर दिया। उन्होंने विभिन्न राज्यों में पीएमकेएसवाई के कार्यान्वयन और जिला सिंचाई योजना (डीप) की उपयोगिता संबंधी अनुभवों को साझा किया। उन्होंने पहाड़ी क्षेत्रों में कृषि वानिकी के महत्व पर भी बल दिया।

डॉ. बी. रेणुका रानी, सहायक निदेशक (मानव संसाधन विकास), मैनेज, हैदराबाद ने प्रशिक्षण कार्यक्रम के पाठ्यक्रम के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने एकीकृत जलसंभर प्रबंधन कार्यक्रम के अंतर्गत दिशा - निर्देशों की प्रमुख विशेषताओं के बारे में बताया।

लगभग 40 अधिकारियों ने इस कार्यक्रम में भाग लिया।

(स्रोतः भाकृअनुप – भारतीय मृदा एवं जल संरक्षण संस्थान, देहरादून)