महसीर मछली के प्रजनन और हैचरी प्रबंधन पर प्रशिक्षण कार्यक्रम

भाकृअनुप- शीत जल मात्स्यिकी अनुसंधान निदेशालय, भीमताल द्वारा छह दिवसीय (1-6 जुलाई, 2016) ‘महसीर के प्रजनन एवं हैचरी प्रबंधन पर प्रशिक्षण कार्यक्रम’ का आयोजन किया गया।

डॉ. ए.के. सिंह, निदेशक, भाकृअनुप- डीसीएफआर ने बंदी अवस्था में मछली पालन एवं ब्रूड पालन की विधि द्वारा महसीर किस्म की वृद्धि और पुनर्वास के लिए हिमालयी राज्य के मात्स्यिकी विभाग, केवीके, एनजीओ और एसएयू के संयुक्त प्रयास पर जोर दिया। उन्होंने प्रतिभागियों को महसीर मछली के प्रसार हेतु भरपूर प्रयास करने के लिए प्रोत्साहित किया।

Training Program on Mahseer Breeding and Hatchery Management Training Program on Mahseer Breeding and Hatchery Management

इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में प्रतिभागियों को गोल्डेन व चॉकलेट महसीर के लार्वा पालन तकनीक, हैचरी प्रबंधन और प्रजनन के विभिन्न पहलुओं पर प्रदर्शनियां दिखाई गई तथा व्याख्यान सुनाए गए।

हिमालय के 9 राज्यों से लगभग 20 प्रतिभागियों ने इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में भाग लिया।

(स्रोतः भाकृअनुप – ताजा जल मात्स्यिकी अनुसंधान निदेशालय, भीमताल, नैनीताल)