‘माइक्रोस्कोंपी में प्रगति’ पर प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन

21 जनवरी, 2015 , मुम्‍बई  

भाकृअनुप – केन्‍द्रीय कपास प्रौद्योगिकी अनुसंधान संस्‍थान (CIRCOT), मुम्‍बई द्वारा ‘माइक्रोस्‍कोपी में प्रगति’ विषय पर दिनांक 19 – 21 जनवरी, 2015  को एक विशेष प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया। संस्‍थान द्वारा स्‍वत: प्रायोजित इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में कर्नाटक, तमिलनाडु, हिमाचल प्रदेश, असोम तथा महाराष्‍ट्र के कुल दस प्रतिभागियों ने भाग लिया। प्रतिभा‍गी अलग – अलग पृष्‍ठभूमि से संबंधित थे, उनमें छात्र, संकाय, वैज्ञानिक और उद्योग के प्रतिनिधि शामिल थे। प्रशिक्षुओं को पोलेराइज्‍ड, फ्लोरेसेन्‍स, परमाणु बल तथा स्‍कैनिंग इलैक्‍ट्रान माइक्रोस्‍कोपी पर व्‍यावहारिक प्रशिक्षण प्रदान किया गया।

Training Programme on

डॉ. बी.एस. बिष्‍ट, निदेशक, बिरला इन्स्टिटयूट ऑफ एप्‍लाइड साइन्सिज (BIAS), भीमताल, उत्‍तराखंड तथा पूर्व कुलपति, जीबीपीयूए एंड टी, पंतनगर ने दिनांक 21 जनवरी, 2015 को ‘माइक्रोस्‍कोपी में प्रगति’ पर आयोजित प्रशिक्षण कार्यक्रम के प्रशिक्षुओं को प्रमाणपत्र वितरित किए। इन्‍होंने कैंसर प्रतिरोधी क्षमता वाले अणुओं की स्‍क्रीनिंग में सूक्ष्‍मदर्शी तकनीकों के महत्‍व के बारे में विस्‍तार से बताया।

इस अवसर पर डॉ. के.एम. परालीकर, पूर्व अध्‍यक्ष, टीटीडी, भाकृअनुप – केन्‍द्रीय कपास प्रौद्योगिकी अनुसंधान संस्‍थान, मुम्‍बई तथा फेलो ऑफ रॉयल माइक्रोस्‍कोपीकल सोसायटी, इंग्‍लैंड तथा डॉ. ए.जे. शेख ने विशिष्‍ट अतिथि के तौर पर कार्यक्रम की शोभा बढ़ाई।

डॉ. पी.जी. पाटिल, निदेशक, भाकृअनुप – केन्‍द्रीय कपास प्रौद्योगिकी अनुसंधान संस्‍थान, मुम्‍बई ने विशिष्‍ट अतिथियों को सम्‍मानित किया और प्रशिक्षण कार्यक्रम में भाग लेने वाले प्रशिक्षुओं द्वारा आद्यतन तकनीकों को सीखने में दिखाई गई गहन रूचि के लिए उन्‍हें बधाई दी।  

समापन समारोह में इंजीनियर ए.के. भरीमल्‍ला, पाठ्यक्रम निदेशक एवं अध्‍यक्ष, टीटीडी, भाकृअनुप – केन्‍द्रीय कपास प्रौद्योगिकी अनुसंधान संस्‍थान, मुम्‍बई ने धन्‍यवाद ज्ञापन प्रस्‍तुत किया।  

(स्रोत : भाकृअनुप – केन्‍द्रीय कपास प्रौद्योगिकी अनुसंधान संस्‍थान (CIRCOT), मुम्‍बई)