भाकृअनुप – भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान, वाराणसी में राष्ट्रीय किसान मेला व सब्जी प्रदर्शनी का उद्घाटन

30 जनवरी, 2015, वाराणसी

National Farmers' Fair cum Vegetable showcasing inaugurated at Indian Institute of Vegetable Research, Varanasi भाकृअनुप – भारतीय सब्‍जी अनुसंधान संस्‍थान (IIVR), वाराणसी द्वारा दिनांक 30 – 31 जनवरी, 2015 को अपने परिसर में एसोसिएशन फॉर प्रोमोशन ऑफ इन्‍नोवेशन्‍स इन वेजिटेबल्‍स (APIV) के सहयोग से राष्‍ट्रीय किसान मेला व सब्‍जी प्रदर्शनी का आयोजन किया गया।

जयापुर गांव की ग्राम प्रधान श्रीमती दुर्गावती देवी ने उद्घाटन समारोह की अध्‍यक्षता की। सांसद आदर्श ग्राम योजना के तहत माननीय प्रधानमंत्री द्वारा अंगीकृत किए गए गांव का प्रतिनिधि होने के नाते श्रीमती दुर्गावती देवी ने किसानों का स्‍वागत किया। इन्‍होंने इस क्षेत्र में सब्जियों की खेती के विकास में संस्थान द्वारा किए गए योगदान पर प्रकाश डाला जिससे इस क्षेत्र में उत्‍पादकता में सुधार आया है और किसानों की आमदनी बढ़ी है।

National Farmers' Fair cum Vegetable showcasing inaugurated at Indian Institute of Vegetable Research, Varanasi डॉ. एन.के. कृष्‍ण कुमार, उपमहानिदेशक (बागवानी विज्ञान), भाकृअनुप ने अपने उद्घाटन संबोधन में इस बात पर प्रकाश डाला कि बागवानी फसलें कहीं अधिक आय अर्जित कर रही हैं और इसीलिए अधिक से अधिक किसान अपनी परम्‍परागत खेती को छोड़कर बागवानी खेती को अपना रहे हैं। इन्‍होंने इस बात पर बल दिया कि विविध और परिवर्तनशील जलवायु परिस्थिति के लिए उपयुक्‍त सब्जियों की नई किस्‍मों का विकास करने पर ध्‍यान केन्द्रित किया जाए।

 इससे पहले, डॉ. बी. सिंह, निदेशक, भाकृअनुप – भारतीय सब्‍जी अनुसंधान संस्‍थान (IIVR), वाराणसी ने किसानों, अतिथिगणों तथा प्रतिभागियों का स्‍वागत किया और उन्‍हें संस्‍थान की गतिविधियों व उपलब्धियों की जानकारी दी।

इस अवसर पर लगाई गई सब्‍जी प्रदर्शनी में भाकृअनुप, राज्‍य कृषि विश्‍वविद्यालयों, सरकारी तथा निजी सेक्‍टर और गैरसरकारी संगठनों के तत्‍वावधान  में  सब्जियों, आलू, प्‍याज, लहसुन, बीजों, उर्वरक, पशुओं, मात्स्यिकी आदि पर 50 से भी अधिक स्‍टॉल लगाये गये।

(स्रोत : भाकृअनुप – भारतीय सब्‍जी अनुसंधान संस्‍थान (IIVR), वाराणसी)