खाद्य एवं पोषण सुरक्षा के लिए कृषि व पोषण संबंधों में बदलाव

17 नवंबर 2016, हैदराबाद

खाद्य एवं पोषण सुरक्षा के लिए कृषि व पोषण संबंधों में बदलाव"खाद्य एवं पोषण सुरक्षा के लिए कृषि व पोषण संबंधों में बदलाव" विषय पर दस दिवसीय (17-26 नवंबर 2016) भाकृअनुप द्वारा प्रायोजित लघु पाठ्यक्रम का आयोजन भाकृअनुप – केन्द्रीय शुष्कभूमि कृषि अनुसंधान संस्थान, हैदराबाद द्वारा किया गया।

डॉ. (श्रीमती) आर. कल्पना शास्त्री , कार्यवाहक निदेशक, आईसीएआर - नार्म, उद्घाटन सत्र की सम्मानित अतिथि द्वारा कृषि और पोषण संबंधों, पोषण सुरक्षा के मुद्दे, जैविक खाद द्वारा चावल, बाजरे के मूल्य संवर्धन, किनुआ (quinoa) उत्पादन और विपणन के महत्व पर बल दिया गया।

डॉ. सीएच. श्री निवास राव, निदेशक, क्रीडा ने अपने संबोधन में लघु पाठ्यक्रम में पारिवारिक खेती द्वारा जलवायु एवं खाद्य सुरक्षा के बदलते परिदृश्य में विविध आहार संबंधी आदतों से निपटने पर प्रकाश डाला।

कृषि, कृषि अभियांत्रिकी, खाद्य विज्ञान, पशु चिकित्सा, बागवानी इत्यादि 11 विषयों के प्रतिभागियों ने प्रशिक्षण में भाग लिया।

(स्रोत: भाकृअनुप – केन्द्रीय शुष्कभूमि अनुसंधान संस्थान, हैदराबाद)