बागवानी फसलों के प्रसंस्करण और उत्पादन में अभियांत्रिकी हस्तक्षेप

बागवानी फसलों के प्रसंस्करण और उत्पादन में अभियांत्रिकी हस्तक्षेप पर विचार मंथन व संवाद बैठक का आयोजन 24 – 25 अक्टूबर, 2016 तक भाकृअनुप – केन्द्रीय कृषि अभियांत्रिकी संस्थान, भोपाल में किया गया।

Brain Storming Session-cum-Interaction Meet on Engineering Interventions for Production & Processing of Horticultural CropsBrain Storming Session-cum-Interaction Meet on Engineering Interventions for Production & Processing of Horticultural Crops

कृषि सकल घरेलू उत्पाद में बागवानी फसलों की व्यापक विविधता 33% से अधिक योगदान देती है। महत्वपूर्ण इकाई के संचालन में मजदूरों की कमी के कारण उत्पादन और फसल उपरांत मशीनीकरण की भूमिका बढ़ चुकी है।

इस प्रशिक्षण कार्यक्रम का उद्देश्य बागवानी फसलों के मूल्य श्रृंखला के इकाई संचालन में अभियांत्रिकी हस्तक्षेप और विविध विषयों में अनुसंधान और विकास प्रयासों की आवश्यकता पर चर्चा करना था।

बागवानी मशीनीकरण और प्रसंस्करण गतिविधियों के क्षेत्र में कार्यरत 21 भाकृअनुप संस्थानों और सीआईएई के वैज्ञानिकों ने सक्रिय रूप से विचार-विमर्श सत्र में भाग लिया।

भाकृअनुप मुख्यालय के वरिष्ठ अधिकारियों, भाकृअनुप संस्थानों और राज्य सरकार के संस्थानों के निदेशकों ने भी विचार-विमर्श सत्र में भाग लिया।

(स्रोत: भाकृअनुप - केन्द्रीय कृषि अभियांत्रिकी संस्थान, भोपाल)