प्राकृतिक रेशा आधारित विविधीकृत उत्‍पादों पर पैनल चर्चा

2 अप्रैल, 2016, कोलकाता

भाकृअनुप – राष्‍ट्रीय पटसन एवं सम्‍बद्ध रेशा प्रौद्योगिकी अनुसंधान संस्‍थान (ICAR-NIRJAFT), कोलकाता द्वारा दि इंडियन नेचुरल फाइबर सोसायटी (TINFS), कोलकाता के सहयोग से ‘’प्राकृतिक रेशा आधारित विविधीकृत उत्‍पाद – प्रगति के लिए अनिवार्य’ विषय पर आज एक पैनल चर्चा का आयोजन किया गया।

Panel Discussion on Natural Fibre based Diversified ProductsPanel Discussion on Natural Fibre based Diversified Products

श्री छबिलेन्‍द्र राउल, आईएएस, अपर सचिव, डेयर एवं सचिव, भाकृअनुप ने कार्यक्रम की अध्‍यक्षता की और पेपर तथा गूदा सेक्‍टर, जियो-टैक्‍सटाइल्‍स तथा कम्‍पोजिट पर विशेष संदर्भ के साथ पटसन के विविधीकृत उत्‍पादों पर अपना व्‍याख्‍यान प्रस्‍तुत किया।

डॉ. साबु थॉमस, महात्‍मा गांधी विश्‍वविद्यालय, केरल के नैनो टैक्‍नोलॉजी विशेषज्ञ ने कम्‍पोजिट में प्राकृतिक रेशा के उपयोग पर तथा अग्रिम पंक्ति अनुप्रयोगों के लिए कम्‍पोजिट में प्राकृतिक रेशा से उत्‍पन्‍न नैनो सेलुलोज की प्रचुर क्षमता पर चर्चा की।

पैनल में शामिल श्री अरविन्‍द कुमार एम., सचिव, राष्‍ट्रीय पटसन बोर्ड, टैक्‍सटाइल्‍स मंत्रालय, भारत सरकार तथा श्री ओ.पी. प्रहलादका, निदेशक एवं राष्‍ट्रीय समन्‍वयक,  हस्‍तकला के लिए निर्यात संवर्धन परिषद ने विभिन्‍न मुद्दों पर चर्चा की जैसे कि कृषि टैक्‍सटाइल्‍स, जियो- टैक्‍सटाइल्‍स, विविधीकृत सेक्‍टर के लिए गुणवत्‍ता पटसन उत्‍पाद, क्षमता निर्माण के लिए अल्‍पावधि प्रशिक्षण के स्‍थान पर दीर्घावधि प्रशिक्षण, नए उद्यमियों का विकास और इस क्षेत्र में बाधाओं का सामना करने के लिए उद्योग – व्‍यापार – संस्‍थान की संयुक्‍त कार्रवाई।

डॉ. देबंजन सुर, सदस्‍य, आरएसी, भाकृअनुप – राष्‍ट्रीय पटसन एवं सम्‍बद्ध रेशा प्रौद्योगिकी अनुसंधान संस्‍थान, कोलकाता द्वारा पैनल चर्चा में मॉडरेटर की भूमिका निभाई गई।

इससे पूर्व, डॉ. डी. नाग, निदेशक, भाकृअनुप – राष्‍ट्रीय पटसन एवं सम्‍बद्ध रेशा प्रौद्योगिकी अनुसंधान संस्‍थान, कोलकाता  तथा अध्‍यक्ष, दि इंडियन नेचुरल फाइबर सोसायटी ने पटसन के विविधीकृत उत्‍पादों के आर्थिक महत्‍व पर बल दिया और इस क्षेत्र के विकास में भाकृअनुप – राष्‍ट्रीय पटसन एवं सम्‍बद्ध रेशा प्रौद्योगिकी अनुसंधान संस्‍थान, कोलकाता  की प्रौद्योगिकियों की भूमिका पर प्रकाश डाला।

इस पैनल चर्चा कार्यक्रम में भाकृअनुप – राष्‍ट्रीय पटसन एवं सम्‍बद्ध रेशा प्रौद्योगिकी अनुसंधान संस्‍थान, कोलकाता; भाकृअनुप – केन्‍द्रीय  पटसन एवं सम्‍बद्ध रेशा अनुसंधान संस्‍थान, बैरकपुर; इंजीनियरिंग व टैक्‍सटाइल प्रौद्योगिकी सरकारी कॉलेज, सिरमपोर; पटसन एवं रेशा प्रौद्योगिकी विभाग, कलकत्‍ता विश्‍वविद्यालय; राष्‍ट्रीय पटसन बोर्ड, भारत सरकार तथा दि इंडियन नेचुरल फाइबर सोसायटी के सदस्‍यों सहित लगभग 130 प्रतिनिधियों ने भाग लिया।

(स्रोत : भाकृअनुप – राष्‍ट्रीय पटसन एवं सम्‍बद्ध रेशा प्रौद्योगिकी अनुसंधान संस्‍थान (ICAR-NIRJAFT), कोलकाता)