कुक्कूट पालन और कुक्कूट बीज परियोजना पर एआईसीआरपी की वार्षिक समीक्षा बैठक का हुआ आयोजन

7 अप्रैल, 2021

कुक्कूट पालन और कुक्कूट बीज परियोजना (पीएसपी) पर अखिल भारतीय समन्वित अनुसंधान परियोजना ने आज अपनी ‘आभासी वार्षिक समीक्षा बैठक’ का आयोजन किया।

डॉ. भूपेंद्र नाथ त्रिपाठी, उप महानिदेशक (पशु विज्ञान), भाकृअनुप ने पिछले 50 वर्षों में देश में कुक्कूट पालन के क्षेत्र में एआईसीआरपी के योगदान की सराहना की। डॉ. त्रिपाठी ने आँगन के पिछवाड़े (बैकयार्ड) कुक्कूट पालन के योगदान को और बढ़ाने पर जोर दिया। उन्होंने जलवायु-अनुकूल कुक्कुट और बाइकयार्ड कुक्कूट पालन के स्वास्थ्य प्रबंधन पर ध्यान केंद्रित करने की आवश्यकता पर भी जोर दिया।

Annual Review Meeting of AICRP on Poultry Breeding and Poultry Seed Project organized  Annual Review Meeting of AICRP on Poultry Breeding and Poultry Seed Project organized  Annual Review Meeting of AICRP on Poultry Breeding and Poultry Seed Project organized

डॉ. वी. के. सक्सेना, अतिरिक्त महानिदेशक (एपी एंड बी), भाकृअनुप ने स्वदेशी मुर्गी के नस्लों के संरक्षण और बेहतर बैकयार्ड कुक्कूट के बड़े पैमाने पर प्रसार की आवश्यकता पर जोर दिया।

डॉ. आर. एन. चटर्जी, निदेशक, भाकृअनुप-कुककूट अनुसंधान निदेशालय, हैदराबाद ने परियोजना की उत्पत्ति और पिछले 50 वर्षों के दौरान की गई प्रमुख उपलब्धियों से अवगत कराया। डॉ. चटर्जी ने कार्रवाई की रिपोर्ट और अगले पाँच वर्षों के लिए कार्य योजना भी प्रस्तुत की।

डॉ. आर. के. विज, निदेशक, भाकृअनुप-राष्ट्रीय पशु आनुवंशिक संसाधन ब्यूरो, करनाल, हरियाणा ने भी समीक्षा बैठक में भाग लिया।

इस बैठक में देश के विभिन्न राज्यों के कुक्कूट पालन पर 12 एआईसीआरपी के केंद्र प्रभारी, 12 कुक्कूट पालन बीज परियोजना केंद्र और भाकृअनुप-डीपीआर, हैदराबाद के वैज्ञानिकों ने भाग लिया।

(स्त्रोत: भाकृअनुप-कुककूट अनुसंधान निदेशालय, हैदराबाद)