कृषि एवं किसान कल्याण राज्य मंत्री ने भाकृअनुप-आईआईएमआर-हैदराबाद का किया दौरा

14 सितंबर, 2022, हैदराबाद

कृषि एवं किसान कल्याण राज्य मंत्री, सुश्री शोभा करंदलाजे ने आज भाकृअनुप-भारतीय बाजरा अनुसंधान संस्थान (आईआईएमआर), हैदराबाद का दौरा किया। संयुक्त राष्ट्र द्वारा अंतर्राष्ट्रीय बाजरा वर्ष 2023 की घोषणा की पूर्व संध्या पर भारत सरकार ने कई कार्यक्रम शुरू किए हैं।

Minister of State for Agriculture and Farmers Welfare visits ICAR-IIMR-Hyderabad

मंत्री ने देश में बाजरा अनुसंधान और विकास में नवीनतम विकास पर भाकृअनुप-आईआईएमआर और स्टार्टअप के वैज्ञानिकों के साथ बातचीत की। अपने संबोधन के दौरान, उन्होंने दुनिया के लिए पोषण और स्वास्थ्य के अनुकूल भोजन के रूप में बाजरा के उपयोग के लिए भारत के योगदान पर जोर दिया और वैज्ञानिकों से अधिक मूल्य संवर्धन और वैरायटी प्रौद्योगिकियों के माध्यम से वैश्विक बाजार में बाजरा प्रदर्शित करने का आग्रह किया। उन्होंने अधिक बाजरा उत्पादन करने और बाजरा की मांग पैदा करने के लिए उद्यमियों और स्टार्टअप के योगदान की सराहना की, जिससे किसानों को अधिक बाजरा उगाने और उनकी आय दोगुनी करने में मदद मिली है।

सुश्री करंदलाजे ने भाकृअनुप-आईआईएमआर में विभिन्न सुविधाओं और बुनियादी ढांचे का दौरा किया, जिसमें बाजरा जीन बैंक में 100s बाजरा जर्मप्लाज्म का संरक्षण, बाजरा मूल्यवर्धन पर उत्कृष्टता केंद्र में बाजरा मूल्य वर्धित उत्पादों के, न्यूट्रीहब (NUTRIHUB) – के रूप में बाजरा उद्यमियों को बढ़ावा देने के लिए एकल खिड़की समाधान शामिल हैं तथा बाजरा मूल्य वर्धित उत्पादों, बाजरा खाद्य प्रसंस्करण प्रयोगशालाओं और मशीनरी के विपणन और व्यवसायीकरण के लिए देश में बाजरा कृषि-उद्यमि को बढ़ावा देना है।

मंत्री द्वारा एक बाजरा रोड शो का भी उद्घाटन किया गया जो आम जनता के लिए बाजरा प्रौद्योगिकियों और स्वास्थ्य एवं पोषक भोजन के रूप में बाजरा के महत्व को प्रदर्शित करता है।

इससे पहले, डॉ. सी.वी. रत्नावती, निदेशक (कार्यवाहक) ने अपने स्वागत संबोधन में भाकृअनुप-आईआईएमआर की हालिया उपलब्धियों एवं गतिविधियों  के बारे में जानकारी दी।

(स्रोत: भाकृअनुप-भारतीय बाजरा अनुसंधान संस्थान, हैदराबाद)