कृषि संबंधी संसदीय स्थायी समिति ने भाकृअनुप-सीसीएआरआई, गोवा का किया दौरा

6 सितंबर, 2021, गोवा

गद्दीगौदर, श्री पर्वतगौड़ा चंदनगौड़ा, सदस्य (लोकसभा), बागलकोट, कर्नाटक ने 9 सांसदों, लोकसभा सचिवालय के वरिष्ठ अधिकारियों और भाकृअनुप के अतिरिक्त महानिदेशकों के साथ आज भाकृअनुप-केंद्रीय तटीय कृषि अनुसंधान संस्थान, गोवा का दौरा किया।

Parliamentary Standing Committee on Agriculture visits ICAR-CCARI, Goa  Parliamentary Standing Committee on Agriculture visits ICAR-CCARI, Goa

टीम ने भाकृअनुप-सीसीएआरआई, गोवा के नारियल आधारित फसल प्रणाली, नारियल-हेलिकोनिया, मैंगो जर्मप्लाज्म ब्लॉक सहित प्रायोगिक क्षेत्रों का दौरा किया। इस दौरान लगाए गए स्टालों में संस्थान की विभिन्न तकनीकों और कृषि विज्ञान केंद्र, उत्तरी गोवा की विस्तार गतिविधियों को भी दर्शाया गया। 

सदस्यों ने अनुसंधान को बेहतर बनाने का सुझाव दिया और गोवा के मानकुराड प्रकार के आम की भौगोलिक संकेतक (जीआई) को जोड़ने का आग्रह किया। अंतरफसल पद्धतियों द्वारा नारियल में आर्थिक लाभ को बढ़ावा देने के तरीकों पर वैज्ञानिकों के साथ बातचीत के दौरान, सदस्यों ने नवीनतम ड्रोन आधारित तकनीकों द्वारा नारियल की फसल और छिड़काव के आसान संचालन पर जोर दिया।

समिति के सदस्यों ने तटीय क्षेत्र के किसानों की आय को दोगुना करने के लक्ष्य के साथ कृषि और संबद्ध क्षेत्रों में सुधार के प्रयासों पर ध्यान केंद्रित करने पर भी जोर दिया।

इससे पहले अपने स्वागत संबोधन में, डॉ. परवीन कुमार, निदेशक, भाकृअनुप-केंद्रीय तटीय कृषि अनुसंधान संस्थान, गोवा ने उन्नत किस्मों, अन्य प्रौद्योगिकियों और स्थायी आजीविका पर उनके प्रभावों में संस्थान की उपलब्धियों को रेखांकित किया।

इसका मुख्य उद्देश्य कृषि, पशुपालन एवं मत्स्यपालन अनुसंधान और विकास का अध्ययन करना था।

(स्रोत: भाकृअनुप-केंद्रीय तटीय कृषि अनुसंधान संस्थान, गोवा)