बिष्णुपुर जिले, मणिपुर में टमाटर की किस्म अर्का रक्षक का लोकप्रियकरण

बिष्णुपुर जिले, मणिपुर में व्यापक रूप से उगाई जाने वाली सब्जियों में से एक टमाटर की खेती मुख्य रूप से वाणिज्यिक और साथ ही पारिवारिक खपत के लिए की जाती है। रोग प्रतिरोधी किस्मों की अनुपलब्धता के कारण बिष्णुपुर जिले के किसानों को 2012-13 के खरीफ सीजन के दौरान टमाटर की पैदावार में कमी का सामना करना पड़ा था। 2014-15, 2015-16 और 2016-17 के दौरान टमाटर की किस्म अर्का रक्षक की किस्मों के प्रदर्शन हेतु खेत पर परीक्षण का आयोजन किया गया था। आकलित प्रौद्योगिकी की उपज प्रदर्शन और आर्थिक प्रभाव किसानों की प्रथाओं से अधिक पाया गया। दो साल के परीक्षण के सफलतम परिणामस्वरूप टमाटर की किस्म अर्का रक्षक के लोकप्रियकरण पर 2017-18 और 2018-19 के खरीफ सत्र के दौरान अग्रिम पंक्ति प्रदर्शन किया गया था।

Popularization of Tomato var. Arka Rakshak in Bishnupur District, Manipur  Popularization of Tomato var. Arka Rakshak in Bishnupur District, Manipur

हस्तक्षेप प्रक्रिया: किसानों की चिन्हित समस्याओं के समाधान और खरीफ टमाटर की उपज बढ़ाने के लिए करीब 230 किसानों को टमाटर की किस्म अर्का रक्षक के बारे में बताया गया। बिष्णुपुर जिले के विभिन्न स्थानों पर 2014-15, 2015-16 और 2016- 17 के दौरान टमाटर के किस्मों के मूल्यांकन पर खेत में परीक्षण किए गए थे। आकलित तकनीक के परिणाम से टमाटर की नई किस्म अर्का रक्षक को जिले में आशाजनक किस्म के रूप में पाया गया। इसलिए उत्पादन और उत्पादकता को बढ़ाने वाली नई आशाजनक किस्म के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए केवीके, बिष्णुपुर ने वर्ष 2017-18 और 2018-19 में विभिन्न स्थानों मसलन, लीमारम, तौबुल, पोत्शंगबाम, कवासीफई, अपोकपी, खोइजुमन, आदि पर किसानों के खेत में अग्रिम पंक्ति प्रदर्शन किया। 

Popularization of Tomato var. Arka Rakshak in Bishnupur District, Manipur  Popularization of Tomato var. Arka Rakshak in Bishnupur District, Manipur

हस्तक्षेप प्रौद्योगिकी: प्रदर्शन कार्यक्रम के कार्यान्वयन और अग्रिम पंक्ति प्रदर्शन के लिए विभिन्न किसानों के खेतों का चयन किया गया। चयनित लाभार्थियों के लिए टमाटर की खेती प्रथाओं पर समूह चर्चा और प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किए गए। प्रौद्योगिकी का विस्तार टमाटर की किस्म अर्का रक्षक, बीज दर: 400 ग्राम/हेक्टेयर, एफवाईएम: 5000 किलोग्राम/हेक्टेयर, एनपीके: 120: 80: 60 किलो/हेक्टेयर, रिक्ति: 60 सेमी x 45 सेमी। विषय विशेषज्ञ-बागवानी ने खड़ी फसल के विभिन्न चरणों के दौरान प्रदर्शन क्षेत्रों का दौरा किया।

Popularization of Tomato var. Arka Rakshak in Bishnupur District, Manipur

प्रभाव क्षैतिज प्रसार: किसानों के खेत में किए गए प्रदर्शन की पड़ोसी किसानों ने भी सराहना की। वे भी अपने खेतों में समान तकनीकी हस्तक्षेप का अनुकरण करने में रुचि दिखा रहे थे। प्रतिवेदन अवधि 2018-19 तक अर्का रक्षक किस्म लगभग 10 हेक्टेयर तक बढ़ गया था।

2017-18 और 2018-19 के दौरान टमाटर की किस्म अर्का रक्षक का प्रदर्शन

फसल

औसत उपज

(क्विं./हेक्टेयर)

प्रदर्शन

औसत उपज

(क्विं./हेक्टेयर)

जाँच

आर्थिक प्रभाव

(रुपए/हेक्टेयर)

2017-18

आर्थिक प्रभाव

(रुपए/हेक्टेयर)

2018-19

2017-18

2018-19

2017-18

2018-19

GC**

GR**

NR**

BCR**

GC**

GR**

NR**

BCR**

टमाटर की किस्म अर्का रक्षक

247.91

333.03

207.5

251.70

71956

495820

423864

6.89:1

75537

499545

424008

6.61:1

 

टमाटर की किस्म अर्का रक्षक की उपज के प्रदर्शन और आर्थिक प्रभाव से टमाटर किसान बड़े पैमाने पर ऐसे क्षेत्रों में विविधता बढ़ाने के लिए आश्वस्त हैं, जिससे अर्थव्यवस्था में आसानी से सुधार होगा और किसानों के कल्याण में भी सहयोग मिलेगा।

(स्त्रोत: भाकृअनुप-कृषि विज्ञान केंद्र, बिष्णुपुर जिला, मणिपुर)