भाकृअनुप-डीआरएमआर ने मेसर्स बायोसीड रिसर्च इंडिया, हैदराबाद के साथ समझौता ज्ञापन पर किया हस्ताक्षर

26 अक्तूबर, 2020, भरतपुर

भाकृअनुप-सरसों अनुसंधान निदेशालय, भरतपुर, राजस्थान ने आज सरसों हाइब्रिड-एनआरसीएचबी-506 के गैर-अनन्य लाइसेंसिंग के लिए मेसर्स बायोसीड रिसर्च इंडिया, हैदराबाद के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किया।

 

डॉ. पी. के. राय, निदेशक, भाकृअनुप-डीआरएमआर, भरतपुर, राजस्थान और डॉ. मुनीर कुमार सिंह, प्रतिनिधि, मेसर्स बायोसीड रिसर्च इंडिया ने अपने संबंधित संगठनों की ओर से समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किया।

अपने संबोधन में, डॉ. पी. के. राय ने जोर देकर कहा कि उच्च उपज वाली नई किस्मों का व्यावसायीकरण उन्नत और आशाजनक किस्मों के तहत अधिक क्षेत्रों को लाने में मदद करेगा जो देश में तिलहन उत्पादन में आत्मनिर्भरता प्राप्त करने में मदद कर सकती हैं। डॉ. राय ने निदेशालय द्वारा बेचने के लिए तैयार अन्य उच्च उपज वाली किस्मों के विकास को भी रेखांकित किया।

इस दौरान पीएमई, आईटीएमयू और आईटीएमसी के वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद रहे।

(स्रोत: भाकृअनुप-सरसों अनुसंधान निदेशालय, भरतपुर, राजस्थान)