भाकृअनुप-नार्म और आईजीएनएफए के बीच मजबूत साझेदारी: निर्माण सहक्रियाओं पर विचार-मंथन बैठक

20 अक्तूबर, 2020, हैदराबाद

भाकृअनुप-राष्ट्रीय कृषि अनुसंधान प्रबंध अकादमी, हैदराबाद ने आज इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वन अकादमी (आईजीएनएफए), देहरादून, उत्तराखंड के साथ एक 'आभासी अन्वेषण-सह-विचार-मंथन बैठक' का आयोजन किया।

Strengthening Partnerships between ICAR-NAARM & IGNFA: Brainstorming Meeting on Building Synergies

श्री भरत जोठी, आई.एफ.एस., निदेशक, आईजीएनएफए, देहरादून, उत्तराखंड ने अल्पावधि में संयुक्त कार्रवाई के लिए नवाचार और डिजिटल शिक्षा को प्रमुख क्षेत्रों के रूप में माना। उन्होंने यह भी संकेत दिया कि भाकृअनुप-नार्म, हैदराबाद के मार्गदर्शन में साझेदारी के साथ आईजीएनएफए एक वानिकी, कृषि वानिकी व्यापार और प्रौद्योगिकी इनक्यूबेशन (ऊष्मायन) केंद्र स्थापित करेगा।

डॉ. चौ. श्रीनिवास राव, निदेशक, भाकृअनुप-नार्म, हैदराबाद ने कृषि और वानिकी क्षेत्रों के बीच घनिष्ठ संबंधों और साझेदारी के कारण क्षेत्रों में प्रवाहित होने वाले लाभों पर प्रकाश डाला। उन्होंने यह भी सुझाव दिया कि अकादमी अपनी पहुंच के विस्तार और सीमाओं से परे नए ग्राहकों के साथ जुड़ने और अंतर्राष्ट्रीय प्रशिक्षण कार्यक्रमों के आयोजन में भी आईजीएनएफए की विशेषज्ञता के लिए तत्पर रहेगी।

बैठक के दौरान, आईजीएनएफए द्वारा अपने क्षमता निर्माण कार्यक्रमों में एकीकृत सरकारी ऑनलाइन प्रशिक्षण मंच को आंतरिक बनाने और भारत सरकार की पड़ोस प्रथम नीति के तहत लागू कार्यक्रमों को प्रस्तुत करने के लिए शुरू की गई पहलों को प्रस्तुत किया गया।

इस बैठक का उद्देश्य दोनों अकादमियों के बीच हस्ताक्षरित समझौता ज्ञापन के एक हिस्से के रूप में भाकृअनुप-नार्म और आईजीएनएफए के बीच साझेदारी के संभावित क्षेत्रों पर विचार-विमर्श करना था।

दोनों अकादमियों के निदेशक और वरिष्ठ संकाय सदस्यों ने आभासी तौर पर अन्वेषण-सह-मंथन बैठक में भाग लिया।

(स्रोत: भाकृअनुप-राष्ट्रीय कृषि अनुसंधान प्रबंध अकादमी, हैदराबाद)