भाकृअनुप-नार्म ने कृषि क्षेत्र के लिए सॉफ्टवेयर समाधानों के संयुक्त विकास को सक्षम करने हेतु आठ आईटी फर्मों को किया सूचीबद्ध

6 सितंबर, 2021, हैदराबाद

भाकृअनुप-राष्ट्रीय कृषि अनुसंधान प्रबंधन अकादमी, हैदराबाद ने आज 8 सूचीबद्ध फर्मों के साथ संयुक्त उत्पाद विकास के लिए समझौतों पर हस्ताक्षर किया।

डॉ. पी. कृष्णन, सदस्य सचिव , मनोनयन संचालन समिति ने अपने संबोधन में इस अवसर का मुख्य उद्देश्य बताया।

ICAR-NAARM empanels eight IT Firms to enable Joint Development of Software Solutions for Agricultural Sector

इससे पूर्व डॉ. चौ. श्रीनिवास राव, निदेशक, भाकृअनुप-नार्म ने कहा कि यह व्यवस्था विभिन्न भाकृअनुप-संस्थानों के वैज्ञानिकों के लिए भाकृअनुप-नार्म और पैनल में शामिल आईटी फर्मों के साथ उनके संबंधित कार्य-क्षेत्र में तकनीकी समाधान संयुक्त रूप से विकसित करने के लिए एक मंच के रूप में काम करेगी।

डॉ. जी. वेंकटेश्वरलू, संयुक्त निदेशक, भाकृअनुप-नार्म, हैदराबाद ने अपने संबोधन में अकादमी की प्रमुख भूमिकाओं पर प्रकाश डाला। उन्होंने यह भी कहा कि साझेदारी अकादमी के हितों को आगे बढ़ाने का अवसर प्रदान करेगी।

अकादमी ने आपसी विशेषज्ञता और अनुभव के आधार पर कृषि अनुसंधान, शिक्षा, विकास एवं संचालन के मुद्दों को संबोधित करने हेतु आईपी-सक्षम आईटी समाधानों को सह-विकसित करने के लिए निजी फर्मों को सूचीबद्ध करने में एक अग्रणी पहल की। यह अकादमी और पैनल में शामिल फर्मों द्वारा संयुक्त रूप से विकसित ज्ञान उत्पादों से नवाचार को संस्थागत बनाने और राजस्व उत्पन्न करने के लिए सार्वजनिक-निजी भागीदारी हेतु एक सक्षम ढाँचा प्रदान करता है।

पहले चरण के दौरान, 2018 में 4 फर्मों को सूचीबद्ध किया गया था, जिसके तहत साक्ष्य-आधारित अनुसंधान शासन, प्रशिक्षण प्रबंधन और भेद्यता मूल्यांकन आदि के लिए कुछ प्रतिमान/समाधान विकसित किए गए थे।

(स्रोत: भाकृअनुप-राष्ट्रीय कृषि अनुसंधान प्रबंधन अकादमी, हैदराबाद)