"हैचरी ब्रेड समुद्री सजावटी झींगा और नैनो एक्वेरिया: भारत में एक नई पहल" शुरू की गई

20 मई, 2022, चेन्नई

श्री अनीता आर. राधाकृष्णन, मत्स्य पालन और पशुपालन मंत्री, तमिलनाडु सरकार ने आज यहां वीजीपी मरीन किंगडम, चेन्नई में हैचरी नस्ल समुद्री सजावटी झींगा और नैनो एक्वेरिया का शुभारंभ किया। यह पहल भाकृअनुप-नेशनल ब्यूरो ऑफ फिशरीज जेनेटिक रिसोर्सेज, लखनऊ, उत्तर प्रदेश और वीजीपी मरीन किंगडम, चेन्नई द्वारा शुरू की गई है।

 

श्री राधाकृष्णन ने राज्य के मछुआरों की आजीविका के विकल्पों में सुधार एवं उनकी बेहतरी के लिए मत्स्य विभाग की पहल को रेखांकित किया। उन्होंने उस पहल की आवश्यकता पर बल दिया जो परिकल्पित अवधारणा के विपणन घटक की स्थिरता को बनाए रखने में मदद करने के साथ-साथ देश के विभिन्न राज्यों में इसके विस्तार की संभावना को बढ़ावा देगा। मंत्री ने कैप्टिव रेज्ड श्रिम्प्स के साथ मरीन नैनो एक्वेरिया की नई अवधारणा पर भाकृअनुप-एनबीएफजीआर और वीजीपी मरीन किंगडम के प्रयासों की सराहना की।

डॉ. के.के. लाल, निदेशक, भाकृअनुप-एनबीएफजीआर, लखनऊ ने ब्यूरो की पहल, समुदाय आधारित सजावटी जलीय कृषि की अवधारणा और वीजीपी मरीन किंगडम जैसे बाजार के नेताओं के साथ सहयोगात्मक भागीदारी की आवश्यकता को रेखांकित किया।

श्री वी.जी.पी. रविदास, वीजीपी ग्रुप के प्रबंध निदेशक ने वीजीपी मरीन किंगडम और चेन्नई में देश में पहला ओशनेरियम स्थापित करने के अग्रणी प्रयासों के बारे में बताया।

(स्रोत: भाकृअनुप-राष्ट्रीय मात्स्यिकी आनुवंशिक संसाधन ब्यूरो, लखनऊ, उत्तर प्रदेश)