‘वैज्ञानिक लेखन की एबीसी’ पर कार्यशालाओं का हुआ समापन

2 सितंबर, 2020, कटक

भाकृअनुप-राष्ट्रीय चावल अनुसंधान संस्थान, कटक, ओडिशा के 75वें स्थापना दिवस के अवसर पर संस्थान की एक इकाई कृषि विज्ञान केंद्र, कटक द्वारा 22 जुलाई से 5 अगस्त, 2020 और 18 अगस्त से 2 सितंबर, 2020 तक ‘वैज्ञानिक लेखन की एबीसी (एबीसी ऑफ साइंटिफिक राइटिंग)’ पर आयोजित दो आभासी कार्यशालाओं का आज समापन हुआ।  

मुख्य अतिथि, डॉ. गोपाल कृष्ण, निदेशक-सह-कुलपति, भाकृअनुप- केंद्रीय मत्स्य शिक्षा संस्थान, मुंबई, महाराष्ट्र सहित सम्मानित अतिथि, डॉ. एच. पाठक, निदेशक, भाकृअनुप-राष्ट्रीय अजैविक स्ट्रैस प्रबंधन संस्थान, बारामती, महाराष्ट्र ने समापन समारोह के दौरान अपनी उपस्थिति दर्ज की।

संस्थान के कर्मचारी सदस्यों के साथ वरिष्ठ अधिकारियों ने भी इस आयोजन में आभासी तौर पर भाग लिया। कार्यशालाओं का मुख्य उद्देश्य शोधकर्ताओं के बीच उचित वैज्ञानिक लेखन के स्वभाव को जागृत करना था।

कार्यशालाओं में आभासी तौर पर कुल 1,691 प्रतिभागियों ने भाग लिया।

(स्रोत: भाकृअनुप-राष्ट्रीय चावल अनुसंधान संस्थान, कटक, ओडिशा)