छठे अंतरराष्ट्रीय संकर धान अनुसंधान संगोष्ठी का उद्घाटन

10 सितम्बर 2012, हैदराबाद

6th International Hybrid Rice Research Symposium Inaugurated  श्री के. लक्ष्मी नारायणन, कृषि मंत्री, आंध्र प्रदेश सरकार ने छठे अंतरराष्ट्रीय संकर धान अनुसंधान संगोष्ठी का उद्घाटन किया। मुख्य अतिथि के रूप में बोलते हुए, श्री नारायणन ने वैज्ञानिकों और किसानों से चावल के उत्पादन में चुनौतियों का सामना करने और चावल की उत्पादकता बढ़ाने के लिए नवीनतम तकनीकों को अपनाने का आह्वान किया। इस संगोश्ठी का आरंभ 10 सितम्बर को हैदराबाद में किया गया था।

6th International Hybrid Rice Research Symposium Inaugurated  डॉ. रॉबर्ट एस. जील्गर, महानिदेशक, अंतर्राष्ट्रीय चावल अनुसंधान संस्थान (आईआरआरआई), फिलीपीन्स, ने अपने उद्घाटन भाषण में एशिया और दुनिया के अन्य भागों में व्याप्त सूखे की स्थिति के बारे में चिंता व्यक्त की। उन्होंने संकर धान की नई किस्मों, जिनमें खेती के लिए कम पानी की जरूरत हो, को विकसित करने की आवश्यकता पर बल दिया।

6th International Hybrid Rice Research Symposium Inaugurated  प्रोफेसर लॉंगपिंग युआन, महानिदेशक, चीन राष्ट्रीय संकर धान अनुसंधान और विकास केंद्र और संकर धान के जनक के रूप में विख्यात, ने संकर धान के चीन और भारत जैसे विकासशील देशों में खाद्य सुरक्षा को बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका पर बल दिया।

6th International Hybrid Rice Research Symposium Inaugurated  श्री आशीष बहुगुणा, सचिव, कृषि और सहकारिता मंत्रालय, भारत सरकार ने कहा कि संकर प्रौद्योगिकी के लाभ के अलावा, हमें देश में खाद्य की आवश्यकता से संबंधित कई चुनौतीपूर्ण मुद्दों को संबोधित करना चाहिए।

6th International Hybrid Rice Research Symposium Inaugurated  डॉ. एस. अय्यपन, सचिव, डेयर एवं महानिदेशक, आईसीएआर, ने कहा कि यह संगोष्ठी संकर चावल प्रौद्योगिकी के विकास के लिए रोड मैप बन कर मार्गदर्शन करेगी।

डॉ. एस.के.दत्ता, उप महानिदेशक (फसल विज्ञान), आईसीएआर ने कहा कि संकर धान के माध्यम से विकसित करने के लिए भविष्य की खाद्य आवश्यकता को पूरा करना बड़ी चुनौती है। उन्होंने संकर धान के विकास में सरकारी और निजी क्षेत्र में एजेंसियों से सक्रिय भागीदारी करने का आग्रह किया।

इससे पूर्व, डॉ. बी.सी.विरक्तामठ, परियोजना निदेशक, चावल अनुसंधान निदेशालय, हैदराबाद ने स्वागत भाषण दिया।

डॉ. एरो निसाला, सह अध्यक्ष, आईआरआरआई ने धन्यवाद ज्ञापित किया।

अंतरराष्ट्रीय चावल अनुसंधान संस्थान और धान अनुसंधान निदेशालय, भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद द्वारा आयोजित तीन दिवसीय (10-12 सितम्बर) संगोष्ठी का उद्देश्य दुनिया में चावल की बढ़ती मांग को ध्यान में रखते हुए चावल की अनुकूल पैदावार में वृद्धि के मुद्दे पर एक चर्चा मंच तैयार करना है। संकर धान प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में नवीनतम उपलब्धियों का प्रदर्शन करने के लिए एक प्रदर्शनी का आयोजन किया गया। कृषि ज्ञान प्रबंधन निदेशालय सहित संगठित आईसीएआर संस्थानों ने एक्सपो में भाग लिया।

संकर धान अनुसंधान पर कार्य कर रहे और दुनिया भर के सार्वजनिक और निजी क्षेत्रों के प्रतिनिधियों और विशेषज्ञों ने संगोष्ठी में भाग लिया।

6th International Hybrid Rice Research Symposium Inaugurated  6th International Hybrid Rice Research Symposium Inaugurated  6th International Hybrid Rice Research Symposium Inaugurated  6th International Hybrid Rice Research Symposium Inaugurated

(Source: NAIP Mass Media Project, DKMA with inputs from Business Unit)