प्रधानमंत्री ने राष्ट्रीय कृषि मेला-कृषि उन्नति का उद्घाटन किया

19 मार्च 2016, नई दिल्ली

श्री नरेन्द्र मोदी, माननीय प्रधानमंत्री, ने आज यहां 'कृषि उन्नति' नाम से आयोजित तीन दिवसीय (19-21 मार्च, 2016) राष्ट्रीय कृषि मेले का उद्घाटन किया।

The Prime Minister, Shri Narendra Modi addressing at the Krishi Unnati Mela, in New Delhi on March 19, 2016.

माननीय प्रधानमंत्री ने अपने अभिभाषण में ग्रामीण अर्थव्यवस्था पर बल देते हुए कहा कि यह देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने का काम करती है और इसके लिए आवश्यक है कि कृषि विकास को तेज तथा सतत बनाया जाये। इसलिए सरकार आवश्यक उपायों तथा प्रयासों के माध्यम से किसानों की आय वर्ष 2022 तक दोगुनी करने के लिए तत्परता से कार्य कर रही है। उन्होंने वृहत स्तर पर आयोजित राष्ट्रीय कृषि मेले की प्रशंसा की और कहा कि इस प्रकार के आयोजन से नई तकनीकों व नवोन्मेषों को सीधे किसानों तक पहुंचाने में सहायता मिलती है तथा ये एक प्रकार से किसानों के प्रशिक्षण का कार्य करते हैं। उन्होंने राष्ट्रीय बजट के कुछ मुख्य बिन्दुओं पर प्रकाश डालते हुए कहा कि यह बजट गरीबों, किसानों और ग्रामीणों के विकास को समर्पित है। इसका मुख्य उद्देश्य कृषि का सम्पूर्ण विकास है जिसमें खेती करने वाले करोड़ों किसानों का कल्याण भी शामिल है। इसके साथ ही उन्होंने दूसरी कृषि क्रांति की आवश्यकता पर बल दिया तथा यह भी कहा कि इसे साकार करने की क्षमता व संभावना भारत के पूर्वी राज्यों में है। सरकार कृषि उत्पादकता बढ़ाने की दिशा में विज्ञान व तकनीक तथा अन्य आवश्यक सहायताओं के माध्यम से प्रयत्नशील है।

Shri Radha Mohan Singh,

माननीय प्रधानमंत्री ने किसानों को सुझाव दिया कि उन्हें अपनी कृषि प्रणाली को तीन स्तम्भों पर आधारित करके खेती करनी चाहिए। पहले के अंतर्गत अनाज, फल व सब्जियों आदि की नियमित खेती की जाए तथा दूसरे अंग के रूप में खेतों के किनारों पर इमारती लकड़ियों के लिए वृक्षारोपण को अपनाया जा सकता है। तीसरा महत्वपूर्ण स्तम्भ पशुपालन है, जिसमें दुग्ध, मछली व पॉल्ट्री उत्पादन तथा लाभकारी मधुमक्खी पालन शामिल करना चाहिए। उन्होंने कृषि से लाभ को बढ़ाने के लिए वेल्यू एडिशन और जैविक खेती को अपनाने पर जोर दिया। उन्होंने बताया कि इसके लिए सरकार विभिन्न योजनाओं के माध्यम से सहायता प्रदान कर रही है। किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए उन्हें बाजार से जोड़ने की आवश्यकता पर बल देते हुए उन्होंने सरकार द्वारा इस दिशा में उठाये गए कदमों की जानकारी दी और बताया कि इसके लिए ई-प्लेटफार्म विकसित किया जा रहा है। साथ ही उन्होंने कहा कि देश के किसानों में आकर्षक वैश्विक बाजार के अवसरों का लाभ उठाने की क्षमता मौजूद है। माननीय प्रधानमंत्री ने सरकार द्वारा हाल में प्रारंभ की गई योजनाओं से होने वाले लाभों के बारे में विस्तार से बताया जिसमें मृदा स्वास्थ कार्ड, प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना और प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना शामिल हैं। इसके साथ ही उन्होंने किसानों से कहा कि वे इन योजनाओं का पूरा लाभ उठाएं। प्रति बूंद, अधिक फसल पर जोर देते हुए उन्होंने किसानों तथा अन्य संबंधितों से इस वर्षा ऋतु में खेतों तथा गांवों में अधिक से अधिक जल संचय करने का आग्रह किया, जिससे सिंचाई सुविधा को बेहतर बनाया जा सके।

माननीय प्रधानमंत्री ने वर्ष 2014-15 के लिए विभिन्न राज्यों और प्रगतिशील किसानों को कृषि कर्मण पुरस्कार प्रदान किए। राज्यों के मुख्यमंत्रियों व कृषि मंत्रियों ने अपने-अपने राज्य की ओर से पुरस्कार ग्रहण किये। प्रधानमंत्री महोदय ने किसान सुविधा नामक मोबाइल एप जारी किया जिसके माध्यम से किसान भाई अनेक कृषि उपयोगी सेवाओं को प्राप्त कर सकते हैं।

इसके पूर्व, प्रधानमंत्री ने विभिन्न पवेलियन का दौरा किया व प्रदर्शनियों में विशेष रूचि दिखाई।

The Prime Minister, Shri Narendra Modi at the Krishi Unnati Mela, in New Delhi on March 19, 2016.

श्री राधा मोहन सिंह, केन्द्रीय कृषि व किसान कल्याण मंत्री ने राष्ट्रीय कृषि मेले के मुख्य आकर्षणों के बारे में जानकारी दी तथा किसानों के कल्याण में व्यक्तिगत रूचि व समर्पण के लिए प्रधानमंत्री महोदय की सराहना की।

डॉ. संजीव कुमार बालियान, केन्द्रीय कृषि व किसान कल्याण राज्य मंत्री ने स्वागत भाषण दिया तथा श्री मोहनभाई कुंडारिया, केन्द्रीय कृषि व किसान कल्याण राज्य मंत्री ने धन्यवाद ज्ञापन प्रस्तुत किया।

राष्ट्रीय स्तर के इस विशाल कार्यक्रम का आयोजन कृषि व किसान कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा किया जा रहा है, जिसमें भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद मुख्य भागीदार व सहयोगी है। देश के विभिन्न भागों में स्थित भाकृअनुप के संस्थानों के साथ ही विभिन्न सरकारी विभाग, संबंधित हितधारक, गैर-सरकारी व निजी क्षेत्र की संस्थाएं भी मेले में किसान उपयोगी तकनीकों, नवोन्मेषों व उत्पादों का प्रदर्शन कर रही हैं। पूरे देश से 50,000 से अधिक किसान इस मेले से लाभ उठा  रहे हैं। 

The Prime Minister, Shri Narendra Modi at the Krishi Unnati Mela, in New Delhi on March 19, 2016.

कृषि उत्पाद, बागवानी, पशु चिकित्सा, डेयरी, मात्स्यिकी, खेती से संबंधित मशीनों व उपकरणों के अलावा विभिन्न तकनीकों व कृषि प्रणालियों के सजीव प्रदर्शन मेले के मुख्य आकर्षण हैं। अधिक पैदावार देने वाली किस्में व पौधे भी आकर्षण का केन्द्र हैं। मेला परिसर में विभिन्न विषयों पर किसान-वैज्ञानिक परिचर्चाओं का भी आयोजन किया जा रहा है। इनमें वैज्ञानिक व विशेषज्ञ किसानों को सरल भाषा में तकनीकी ज्ञान व खेती से संबंधित लाभकारी सुझाव प्रदान कर रहे हैं। लगभग 500 स्टॉलों के माध्यम से तकनीकी जानकारियों व सरकारी योजनाओं से  संबंधित सूचनाएं प्रदान की जा रही हैं।

यह मेला भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान, नई दिल्ली के विशाल परिसर में आयोजित किया गया है।

(स्रोतः भाकृअनुप-कृषि ज्ञान प्रबंध निदेशालय, नई दिल्ली)