पश्चिम बंगाल के अमरपुर, पोटासपुर में एफआरपी पोर्टेबल कॉर्प हेचेरी की शुरूआत

20 दिसम्‍बर, 2015, मिदनापुर, पश्चिम बंगाल

भाकृअनुप – केन्‍द्रीय मीठा जलजीव पालन संस्‍थान, भुबनेश्‍वर के क्षेत्रीय केन्‍द्र ने आज यहां पश्चिम बंगाल के पूर्वी मिदनापुर जिले के गांव अमरपुर, ब्‍लॉक पोटासपुर के खरियल आदिवासी किसानों के लिए किसान बैठक का आयोजन किया और पोर्टेबल एफआरपी कॉर्प हेचेरी इकाई की शुरूआत की। यहां के खरियल आदिवासी एक विशिष्‍ट घास (खारी) से बरतन बनाने के कार्य में संलग्‍न हैं।

FRP Portable Carp Hatchery Launched at Amarpur, PotaspurFRP Portable Carp Hatchery Launched at Amarpur, Potaspur

श्री ज्‍योतिर्मय कर, पश्चिम बंगाल सरकार के माननीय सहकारिता मंत्री और समारोह के मुख्‍य अतिथि ने एफआरपी हेचेरी तथा वैज्ञानिक जलजीव पालन के माध्‍यम से गुणवत्‍ता मत्‍स्‍य बीज उत्‍पादन का प्रदर्शन करने के लिए अमरपुर गांव के आदिवासी लाभान्वितों को अंगीकृत करने के लिए भाकृअनुप – केन्‍द्रीय मीठा जलजीव पालन संस्‍थान की सराहना की।

श्री शिशिर अधिकारी, माननीय सांसद, कोन्‍टाई ने क्षेत्र के आदिवासी समुदाय से अपने आर्थिक उत्‍थान के लिए  प्रौद्योगिकियों को अपनाने और राज्‍य तथा केन्‍द्र सरकार द्वारा प्रदत्‍त सहायता से लाभ उठाने की जरूरत बताई।

डॉ. पी. जयशंकर, निदेशक, भाकृअनुप – केन्‍द्रीय मीठा जलजीव पालन संस्‍थान, भुबनेश्‍वर ने इस बात पर जोर दिया कि यदि किसानों को गुणवत्‍ता बीज, चारा, दवाइयां और बाजार की सुविधा समय से उपलब्‍ध करा दी जाये तो जलजीव पालन से आदिवासी समुदाय की आजीविका में सुधार लाया जा सकता है । उन्‍होंने राज्‍य सरकार से क्षेत्र में एक मत्‍स्‍य ब्रूड बैंक स्‍थापित करने की पहल करने का अनुरोध किया जिसके लिए भाकृअनुप – केन्‍द्रीय मीठा जलजीव पालन संस्‍थान द्वारा तकनीकी मार्गदर्शन प्रदान कराया जाएगा।

गणमान्‍य अतिथियों ने संयुक्‍त रूप से एफआरपी कॉर्प हेचेरी इकाई को प्रारंभ किया और इसे ब्‍लॉक के आदिवासी समुदाय को समर्पित किया।

इस कार्यक्रम में पोटासपुर पंचायत समिति के वरिष्‍ठ अधिकारियों और भाकृअनुप – केन्‍द्रीय मीठा जलजीव पालन संस्‍थान तथा पश्चिम बंगाल सरकार के वैज्ञानिकों ने भाग लिया।

इस कार्यक्रम में 500 से भी अधिक ग्रामीणों ने भाग लिया जिनमें अधिकांश आदिवासी समुदाय से थे ।

डॉ. आर.एन. मण्‍डल, प्रधान वैज्ञानिक, भाकृअनुप – केन्‍द्रीय मीठा जलजीव पालन संस्‍थान ने धन्‍यवाद ज्ञापन प्रस्‍तुत किया।

(स्रोत : भाकृअनुप – केन्‍द्रीय मीठा जलजीव पालन संस्‍थान, भुबनेश्‍वर)