भाकृअनुप- सीआईएफआरआई द्वारा राष्ट्रीय मछुआरा दिवस-2016 मनाया गया

10 जुलाई, 2016, बैरकपुर

भाकृअनुप- केन्द्रीय अंतःस्थलीय मात्स्यिकी अनुसंधान संस्थान (सीआईएफआरआई) बैरकपुर द्वारा 10 जुलाई, 2016 को राष्ट्रीय मछुआरा दिवस मनाया गया।

प्रो. पूर्णेन्दु बिश्वास, कुलाधिपति, पश्चिम बंगाल पशु एवं मात्स्यिकी विज्ञान विश्वविद्यालय ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की। अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि राज्य सरकार, भाकृअनुप-सीआईएफआरआई, विश्वविद्यालयों, उद्यमियों और मछुआरों से यह आग्रह किया कि वे मत्स्य पालन क्षेत्र के विकास के लिए संसाधनों के विवेकपूर्ण उपयोग के लिए एक साथ प्रयास करें। उन्होंने विभिन्न राज्यों के नवोन्मेषी किसानों के मध्य संवाद बढ़ाने की बात कही।

ICAR-CIFRI Celebrated National Fish Farmers Day, 2016ICAR-CIFRI Celebrated National Fish Farmers Day, 2016ICAR-CIFRI Celebrated National Fish Farmers Day, 2016ICAR-CIFRI Celebrated National Fish Farmers Day, 2016

श्री शीलभद्र दत्त, विधायिक, पश्चिम बंगाल ने सम्मानित अतिथि के तौर पर अनुसंधान परिणामों को किसानों के खेत तक पहुंचाने और केन्द्र व राज्य के सहयोग से किसानों के कल्याण के लिए अधिक सहयोगात्मक कार्य करने पर जोर दिया।

डॉ. वी.आर. सुरेश, निदेशक, भाकृअनुप- सीआईएफआरआई (कार्यवाहक) ने कहा कि संस्थान के वैज्ञानिक देश में सतत मुक्त जलाशय मछली पालन को विकसित करने के लिए प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने यह सूचना दी कि संस्थान द्वारा वर्ष 2015-16 के दौरान विभिन्न राज्यों जैसे, बिहार, पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश, असम, कर्नाटक, केरल, झारखंड आदि के 500 किसानों के लिए क्षमता निर्माण कार्यक्रम आयोजित किया गया।

राज्य सरकार के अधिकारियों तथा सीआईएफआरआई के वैज्ञानिकों व स्टॉफ सदस्यों के साथ ही लगभग 100 से अधिक किसानों ने इस कार्यक्रम में भाग लिया।

संस्थान द्वारा पश्चिम बंगाल, बिहार, झारखंड का प्रतिनिधित्व करने वाले छह प्रगतिशील मछुआरों को 'सर्वश्रेष्ठ मछुआरा पुरस्कार- 2016'प्रदान किये गये।