भाकृनुप महानिदेशक का भाकृअनुप-एनबीएसएस एंड एलयूपी, क्षेत्रीय केंद्र, कोलकाता का दौरा किया

15 जून 2016, कोलकाता

DG, ICAR visited ICAR-NBSS&LUP, Regional Centre Kolkataडॉ. त्रिलोचन महापात्र, सचिव, डेयर एवं महानिदेशक, भाकृअनुप ने 15 जून, 2016 को मृदा सर्वेक्षण भाकृअनुप – राष्ट्रीय मृदा सर्वेक्षण और भूमि उपयोग नियोजन ब्यूरो, क्षेत्रीय केन्द्र, कोलकाता का दौरा किया। डॉ. महापात्र ने केन्द्र के वैज्ञानिकों व कर्माचारियों से ब्यूरो के मृदा उर्वरता कार्यक्रमों पर आधारित उर्वरक सिफारिशों के सत्यापन के लिए राज्य कृषि विश्वविद्यालयों/राज्य के अनुसंधान खेतों में प्रयोग प्रारंभ करने का आग्रह किया। उन्होंने पूर्वी भारत के बेंचमार्क साइट प्रोफाइल पुनः देखने पर जोर दिया जिससे मृदा के गुणों में परिवर्तन की तुलना की जा सके। इसके साथ ही उन्होंने बिहार और पश्चिम बंगाल राज्यों की परती प्रणालियों में मृदा कार्बनिक पदार्थ की स्थिति में चावल-चावल और चावल परती भूमि के अध्ययन पर जोर दिया।

इस कार्यक्रम में डॉ. जे.के. जेना उपमहानिदेशक (मात्स्यिकी), भाकृअनुप ने भाग लिया।

डॉ. एस. के. सिंह, निदेशक, भाकृअनुप-एनबीएसएस एंड एलयूपी ने केंद्र और ब्यूरो की विभिन्न गतिविधियों और उपलब्धियों के बारे में जानकारी दी। इसके साथ ही उन्होंने भूमि संसाधन सूची (एलआरआई) के 1:10,000 पैमाने पर कृषि पारिस्थितिक उप-क्षेत्रों के अनुसार पूर्वी भारत के विभिन्न प्रखंडों के बारे में जानकारी दी।

(स्रोत: भाकृअनुप - राष्ट्रीय मृदा सर्वेक्षण और भूमि उपयोग नियोजन ब्यूरो, क्षेत्रीय केन्द्र, कोलकाता)