किसानों के आर्थिक विकास के लिए एकीकृत कृषि प्रणाली पर जोर

16 जून 2016, राहरा, पश्चिम बंगाल

डॉ. त्रिलोचन महापात्र, सचिव, डेयर एवं महानिदेशक, भाकृअनुप ने 16 जून, 2016 को भाकृअनुप – केन्द्रीय ताजा जल जीव पालन अनुसंधान संस्थान, भुबनेश्वर के कल्याणी फील्ड स्टेशन, राहरा, पश्चिम बंगाल का दौरा किया।

Integrated farming system for the economic development of farmers emphasised Integrated farming system for the economic development of farmers emphasised

डॉ. महापात्र ने अपने संबोधन में संसाधनहीन किसानों के आर्थिक विकास के लिए एकीकृत कृषि प्रणाली पर जोर दिया। महानिदेशक महोदय ने "पोषण तथ्य" तथा "बाली द्वीप, सुंदरबन, पश्चिम बंगाल में ताजा जल जीव पालन सबंधी प्रौद्योगिकियों के प्रसार" पर पैम्फ्लेट जारी किए। डॉ. जे. के. जेना, उपमहानिदेशक (मात्स्यिकी) और डॉ. वी. आर. सुरेश, निदेशक (कार्यवाहक), भाकृअनुप – सीआईएफआरआई ने भी इस कार्यक्रम में भाग लिया।

डॉ. पी. जयशंकर, निदेशक, भाकृअनुप-सीफा ने आश्वासन दिया कि केंद्र इस क्षेत्र में जीव पालन के विकास में भरपूर सहयोग देगा।

इस कार्यक्रम में जनजातीय मत्स्य किसान बैठक (जलभूमि दिवस) का भी आयोजन किया गया। सुंदरबन, नैहाटी, मुर्शिदाबाद और हुगली से आए मछुआरों ने इस बैठक में भाग लिया।

(स्रोत: भाकृअनुप – केन्द्रीय ताजा जल जीव पालन संस्थान, भुबनेश्वर)