महानिदेशक, भाकृअनुप द्वारा मूंगफली अनुसंधान निदेशालय का दौरा

4 सितंबर 2016, जूनागढ़

डॉ. त्रिलोचन महापात्र, सचिव, डेयर एवं महानिदेशक भाकृअनुप द्वारा भाकृअनुप – मूंगफली अनुसंधान निदेशालय, जूनागढ़ का दौरा किया गया।

डॉ. महापात्र संस्थान के कर्मचारियों को संबोधित करते हुए निदेशालय द्वारा सेलुलेज और प्रोटीज एंजाइम प्रौद्योगिकियों के व्यावसायीकरण की सराहना की। उन्होंने संगठन को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाने के लिए सभी कर्मचारियों को ठोस प्रयास करने का आग्रह किया और जंगली किस्मों की उपयोगिता, प्रजातीय विकास, गुणवत्ता सुधार, तथा जैविक और अजैविक दबावों के प्रबंधन पर केन्द्रित अनुसंधान कार्यों पर बल दिया।

DG, ICAR visits Directorate of Groundnut ResearchDG, ICAR visits Directorate of Groundnut Research

उन्होंने जूनागढ़ और आस-पास के मूंगफली के खेतों के साथ ही संग्रहालय, प्रायोगिक खेतों और डीजीआर फार्म का दौरा किया। इसके अलावा उन्होंने जैव प्रौद्योगिकी, सूक्ष्म जीवविज्ञान और कायिकीविज्ञान की प्रयोगशालाओं को भी देखा तथा अनुसंधान गतिविधियों की प्रगति पर वैज्ञानिकों के साथ बातचीत की।.

डॉ. टी. राधाकृष्णन, निदेशक, आईसीएआर – डीजीआर ने कर्मचारियों की संख्या और बजट के साथ-साथ स्थापना, प्रगति और डीजीआर के कामकाज पर एक संक्षिप्त प्रस्तुति दी।

(स्रोत: भाकृअनुप - मूंगफली अनुसंधान निदेशालय, जूनागढ़)