कृ.वै.च.मं. की राष्ट्रीय आनलाइन परीक्षा केंद्र का उद्घाटन

नई दिल्ली, 24 मई

माननीय श्री हरीश रावत, कृषि एवं खाद्य प्रसंस्करण उद्योग राज्य मंत्री ने आज यहां डॉ. एस. अय्यप्पन, सचिव, कृषि अनुसंधान एवं शिक्षा विभाग (डेयर) तथा महानिदेशक, भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (भा.कृ.अनु.प.) और डॉ. सी.डी. मायी, अध्यक्ष, कृषि वैज्ञानिक चयन मंडल (कृ.वै.च.मं.) की उपस्थिति में कृषि वैज्ञानिक चयन मंडल की राष्ट्रीय आनलाइन परीक्षा केंद्र का उद्घाटन किया।

अपने उद्घाटन भाषण में सभा को संबोधित करते हुए माननीय राज्य कृषि मंत्री ने कृ.वै.च.मं. को राष्ट्रीय आनलाइन परीक्षा केंद्र स्थापित करने पर बधाई देते हुए कहा कि यह न केवल कृ.वै.च.मं. के लिए बल्कि पूरे भा.कृ.अनु.प. के लिए बड़े ही हर्ष का विषय है। यह कदम भारत में सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र के विकास का द्योतक है। उन्होंने कहा कि इस पहल के माध्यम से कृ.वै.च.मं. भारत का पहला ऐसा वैज्ञानिक संगठन बन जाएगा जहां राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा (नेट) और कृषि अनुसंधान सेवा की परीक्षा आनलाइन की जाएगी। यह परीक्षा प्रणाली भा.कृ.अनु.प. की छात्रवृत्ति परीक्षा के संचालन, प्रवेश प्रणाली तथा सभी सेवा परीक्षाओं, जो किसी भी संगठन में मानव संसाधन विकास का एक अभिन्न हिस्सा बन गए हैं, के लिए सहयोगी साबित होगा।

कृ.वै.च.मं. की उपलब्धियों का वर्णन करते हुए श्री रावत ने कहा कि कृषि अनुसंधान एवं विकास के क्षेत्र में कृ.वै.च.मं. एक महत्वपूर्ण संस्था है। इसके माध्यम से कुशल वैज्ञानिकों का चयन किया जाता है, जो कि कृषि के विकास में अपना अमूल्य योगदान देते हैं। अतः इसे सुदृढ़ बनाने के लिए सरकार और भा.कृ.अनु.प. को मिलकर प्रयास करने की आवश्यकता है। इस अवसर पर राज्य कृषि मंत्री ने राज्य कृषि विश्वविद्यालयों से उपयुक्त प्रतिभाओं की रिक्ति पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि यह एक गम्भीर चुनौती है जिसपर जल्द ही कोई ठोस कदम उठाने की जरूरत है।

इससे पूर्व डॉ. एस. अय्यप्पन, सचिव, कृषि अनुसंधान एवं शिक्षा विभाग (डेयर) तथा महानिदेशक, भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (भा.कृ.अनु.प.) ने अपने उद्बोधन में कृ.वै.च.मं. की राष्ट्रीय आनलाइन परीक्षा केंद्र की स्थापना पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कृ.वै.च.मं. के सदस्यों और अधिकारियों को बधाईयां एवं शुभकामनाएं दी।

डॉ. सी.डी. मायी, अध्यक्ष, कृ.वै.च.मं. ने एक प्रस्तुतिकरण के माध्यम से कृ.वै.च.मं. के विषय में बताते हुए इसकी उपलब्धियों की चर्चा की तथा साथ ही साथ कृ.वै.च.मं. के भविष्य योजनाओं का भी उल्लेख किया। उन्होंने बताया कि पहली बार होने वाले इस आनलाइन परीक्षा के माध्यम से आगामी 300 सहायक पद हेतु नियुक्ति देश के 65 केंद्रों पर की जा रही है, जिसमें अनुमानतः 2 लाख से भी ज्यादा प्रतिभागी सम्मिलित हो रहे हैं।

इस अवसर पर भा.कृ.अनु.प. और कृ.वै.च.मं. के वैज्ञानिक, अधिकारीगण एवं अन्य अतिथि भी उपस्थित थे।

डॉ. एन. के. त्यागी, सदस्य, कृ.वै.च.मं. ने माननीय राज्य कृषि मंत्री और अन्य गणमान्य अतिथियों का स्वागत किया और प्रो. एम. जे. मोदईल, सदस्य, कृ.वै.च.मं. और संयोजक, आनलाइन परीक्षा परियोजना, कृ.वै.च.मं., भा.कृ.अनु.प. ने अतिथियों को धन्यवाद ज्ञापित किया।

(स्रोत: एनएआईपी सब-प्रोजेक्ट मास-मीडिया मोबिलाइजेशन, डीकेएमए)