राजस्थान और गुजरात में आर्या प्रोजेक्ट की समीक्षा

21 नवम्बर, 2016, जोधपुर

राजस्थान और गुजरात में आर्या प्रोजेक्ट की समीक्षा'कृषि में युवाओं को आकर्षित करना और बनाए रखना' (आर्या) परियोजना की क्षेत्रीय समिति की बैठक भाकृअनुप- कृषि प्रौद्योगिकी अनुप्रयोग अनुसंधान संस्थान में आयोजित की गयी। बैठक का उद्देश्य राजस्थान और गुजरात में स्थित कृषि विज्ञान केन्द्र की प्रगति और कार्य योजना की समीक्षा करना था।

डॉ. एस.के. सिंह, निदेशक, भाकृअनुप- अटारी, जोधपुर ने अपने संबोधन में परियोजना को सफल बनाने में ज्ञान प्रबंधन, आदान प्रबंधन, प्रसंस्करण प्रबंधन तथा फसल उपरांत प्रबंधन के क्षेत्र में ग्रामीण युवाओं को सहयोग प्रदान करने, समूह बनाने की सुविधा प्रदान करने, संवेदीकरण तथा जागरूकता लाने में केवीके की सक्रिय भूमिका पर बल दिया।

डॉ. ओ.पी. यादव, निदेशक, भाकृअनुप – केन्द्रीय शुष्क भूमि क्षेत्र अनुसंधान संस्थान, जोधपुर ने अपने संबोधन में सभी प्रकार के संबंध बनाने के द्वारा विपणन के पहलुओं पर बल दिया। उन्होंने कृषि में युवाओं की रूचि को बनाए रखने के लिए उद्यम विकास के माध्यम से युवाओं के लिए पूरे वर्ष रोजगार सृजन पर जोर दिया।

डॉ. ईश्वर सिंह, निदेशक, विस्तार शिक्षा, कृषि विश्वविद्यालय, जोधपुर ने उच्च आय के लिए परंपरागत खेती प्रथाओं के आधार पर कृषि गतिविधियों के विविधीकरण पर जोर दिया।

(स्रोतः भाकृअनुप – अटारी, जोधपुर)