“जैविक डेटा के विश्लेषण में कम्प्यूटेशनल उपकरणों के प्रयोग" पर प्रशिक्षण

आईसीएआर- केन्द्रीय मीठा जलजीव पालन संस्थान, भुबनेश्वर और आईसीएआर-भारतीय कृषि सांख्यिकी अनुसंधान संस्थान, नई दिल्ली द्वारा संयुक्त रूप से 5-14 जुलाई, 2016 को “जैविक डेटा के विश्लेषण में कम्प्यूटेशनल उपकरणों के प्रयोग" पर कौशल्यगंगा में प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

Training program on Training program on Training program on

प्रो. डॉ. अनिल राय, प्रमुख, जैव सूचना विज्ञान, आईसीएआर-आईएएसआरआई, नई दिल्ली ने उद्घाटन कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के रूप में कृषि के क्षेत्र में जैव सूचना विज्ञान की आवश्यकता पर बल दिया। इसके साथ उन्होंने बताया कि किस प्रकार से जैव सूचना विज्ञान ने जीनोमिक्स में मदद की और विज्ञान के अन्य क्षेत्रों में इस विज्ञान को संबद्ध किया गया है। आईएएसआरआई, नई दिल्ली की सुपर कंप्यूटर सुविधा “अशोक” द्वारा कम्प्यूटेशनल डाटा विश्लेषण में पेश आ रही चुनौतियों के निपटारे में सहायता प्रदान की जायेगी। इसके साथ ही इस सुविधा का लाभ कृषि जैवसूचना विज्ञान के क्षेत्र में नए उपकरणों को विकसित करने में भी प्राप्त होगा तथा इससे संबंधित “केबिन” नामक परियोजना इस दिशा में एक नई पहल है।

डॉ. पी. जयशंकर, निदेशक, आईसीएआर –सीफा ने प्रशिक्षण के सम्पन्न होने के अवसर पर अपने संबोधन में युवाओं को असफलता की चिंता किये बिना चुनौतियों को स्वीकार करने का आग्रह किया।

ओडिशा, तमिलनाडु और महाराष्ट्र के 30 प्रतिभागियों ने इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में भाग लिया।

(स्रोतः भाकृअनुप – केन्द्रीय ताजा जलजीव पालन संस्थान, भुबनेश्वर)