"मछली प्रसंस्करण एवं मूल्य संवर्धन" पर प्रशिक्षण

भाकृअनुप - केंद्रीय मात्स्यिकी प्रौद्योगिकी संस्थान, कोच्चि द्वारा केवीके, वाशिम, महाराष्ट्र की मछली सहकारी समितियों के लिए "मछली प्रसंस्करण एवं मूल्य संवर्धन" पर तीन दिवसीय (3-5 अगस्त, 2016) प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस प्रशिक्षण का उद्देश्य ताजा जल मछली पालन के विभिन्न प्रसंस्करण से जुडे पहलुओं तथा इन जलस्रोतों में मछलियों के संरक्षण व मूल्य संवर्धित मछली उत्पादन तकनीक आधारित उत्पादन से प्रशिक्षुओं को परिचित कराना था। इसके साथ ही मत्स्य संरक्षण एवं मूल्य वर्धित गुणवत्तापूर्ण मछली उत्पादन से संबंधित प्रौद्योगिकियों के विभिन्न पहलुओं पर आधारित सहकारी समितियों के सदस्यों को कौशल आधारित प्रशिक्षण देना था।

Training on Training on

प्रशिक्षण कार्यक्रम में ‘किसान उत्पादक संगठन (एफपीओ)’ बनाने के उद्देश्य से वाशिम जिले के मछुआरा सहकारी समितियों से चयनित 10 प्रतिनिधि मछुआरों ने भाग लिया। नाबार्ड, वाशिम, महाराष्ट्र एवं केवीके वाशिम, महाराष्ट्र के तकनीकी सहयोग के तहत एफपीओ को ‘मनोरा मत्स्य प्रसंस्करण कंपनी लिमिटेड’ के नाम से पंजीकृत कराया गया है।

(स्रोत: आईसीएआर-केंद्रीय मात्स्यिकी प्रौद्योगिकी संस्थान, कोच्चि)